स्तंभकार युवराज पोखरना को कन्हैया लाल की हत्या की आलोचना करने के बाद इंस्टाग्राम पर मिली जान से मारने की धमकी

पत्रकार युवराज पोखरना को 28 जून को इंस्टाग्राम पर उदयपुर हत्याकांड की आलोचना करने के बाद इस्लामवादियों से जान से मारने की धमकी मिली है। पोखरना ने इस्लामवादियों द्वारा कन्हैया लाल तेली की हत्या के बारे में द तत्व इंडिया के इंस्टाग्राम पोस्ट पर एक टिप्पणी में लिखा, “यह घृणित” जालीदार टोपी’ वाला “पंथ हमेशा मानव जाति के लिए शत्रुतापूर्ण और विकृत होगा।”

फैसल एक्स एम्एचडी (Faisal x mhd) ने इंस्टाग्राम पर उनकी टिप्पणी का जवाब देते हुए कहा, “गुस्ताक ए रसूल की एक साजा सर तन से जुदा।” युवारज की उसी टिप्पणी पर एक अन्य इंस्टाग्राम यूजर आमिरशेख ने लिखा “किसने शुरू किया यार?”

इसके बाद युवराज पोखरना ने इंस्टाग्राम यूजर्स फैसल और आमिर शेख की शिकायत गुजरात पुलिस को की।

पोखरना ने ओपइंडिया के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि उदयपुर में इस्लामवादियों द्वारा कन्हैया लाल की बर्बर हत्या की निंदा करने के लिए उन्हें कई धमकियां मिलीं। उन्होंने टिप्पणी की कि मैं चकित था। नूपुर शर्मा के लिए खड़े होने के लिए कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई थी। मैंने इंस्टाग्राम पर हत्या की निंदा की थी, जिसके कारण मुझे धमकियां मिलीं। मैंने उन इंस्टाग्राम यूजर्स की रिपोर्ट पुलिस को की है जिन्होंने मुझे धमकी दी थी। आमिर और फैसल दोनों ने धमकी देने के बाद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट डिलीट कर दिए है।

राजस्थान के उदयपुर में 28 जून को कन्हैया लाल नाम के एक हिंदू व्यक्ति की भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट के कारण बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। कथित तौर पर कन्हैया लाल के फोन से गलती से उनके 8 साल के बेटे ने वीडियो गेम खेलते हुए पोस्ट कर दिया था।

मोहम्मद रियाज अख्तर और मोहम्मद गोस, दो इस्लामी हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गृह मंत्रालय के मार्गदर्शन में एनआईए ने जांच अपने हाथ में ले ली है।