जानिए आखिर क्यो मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार सोना – चांदी खरीदना क्यो है शुभ

दीपावली से पहले आता है धनतेरस का त्योहार और हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार इस पर्व मे खरीदारी करना बड़ा ही शुभ माना जाता है और उसमे भी सोने और चांदी वाले आभूषण खरीदने का ये सबसे उचित समय माना जाता है । लेकिन कभी आपने सोचा है आखिर क्यो मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार और उस समय खरीदारी करना और उसमे भी सोना – चांदी खरीदना क्यो शुभ माना जाता है अगर नही तो चलिए आज हम आपको बताते है कि क्यो मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार ।

धनतेरस मनाने के पीछे ये है कारण

इस त्योहार को मनाने के पीछे एक  पौराणिक मान्यता  है ।  एक राजा हुआ करता था । जिसका नाम हिम था ।  उसके बेटे को श्राप मिला था कि विवाह के चौथे दिन ही उसकी मौत हो जाएगी । उसके बेटे का एक राजकुमारी के साथ प्रेम विवाह हुआ।  जब ये बात राजकुमारी को पता चली कि उसका पति शादी के चौथे दिन मर जाएगा तो शादी के चौथे दिन उसने अपने पति को जागते रहने के लिए कहा. पति सो न जाए इसलिए वह पूरी रात उसी के साथ अपने समय व्यतीत करने लगी ।

धनतेरस
dainik jagran

Also Read – विधायक बनी टॉपर लड़की जनता की समस्याओ को सुन उठाए सख्त कदम

यमराज नही ले सके प्राण

इस दौरान उसने  घर के दरवाजे पर सोना-चांदी और बहुत सारे आभूषण भी रखे और दीये जला दिए. जब यमराज सांप का रूप लेकर उसके पति को मारने आए तो चारों तरफ चमक-धमक देखकर अंधे हो गए और वह घर के भीतर प्रवेश नहीं कर पाये. वह आभूषणों के ऊपर ही विराजमान होकर कहानी और गीत सुनने लगे. देखते ही देखते रात बीत गई और सुबह हो गई और इसी के साथ राजकुमार की मृत्यु की घड़ी भी बीत गई. इसलिए ये मान्यता है कि धनतेरस मे सोने और चांदी खरीदने से बुरी चीजो का प्रभाव हमपर कम पड़ता है