आखिर क्या है 2+2 वार्ता भारत और अमेरिका के बीच होने जा रहा BECA करार और क्या हैं इसके मायने ?

अमरीका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पूर्व आज 2+2 वार्ता के दौरान रक्षा से संबंधित कई महत्वपूर्ण समझौते हो सकते हैं। बंता दें 2+2 वार्ता का तीसरा चरण है। इसी चरण के अन्तर्गत दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्री एक दूसरे से मुलाकात करेंगे। कल अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री जयशंकर प्रसाद की औपचारिक मिटींग हो चुकी है।

2+2 वार्ता
Photo – News 24 Hind 

अमरीकी 2+2 वार्ता के दौरान दोनों ही देशों के शीर्ष सैन्य सहयोग को लेकर बड़ा करार करेंगे। इस वार्ता के दौरान होने वाले समझौतों से भारत की सैन्य ताकत मजबूत होगी। भारत और अमेरिका के बीच BECA (बेसिक एक्सचेंज एंड कॉपरेशन एग्रीमेंट) पर करार होने जा रहा है।

Also Read –कोयला घोटाला – केंद्रीय मंत्री रहे दिलीप रे को 3 साल की सजा

2+2 वार्ता BECA करार के फायदे

इस समझौते के तहत भारत अमेरिका के सैन्य उपग्रहों से स्थलाकृतिक छवियों तथा अन्य क्लासिफाइड डाटा प्राप्त कर सकेंगे। BECA समझोता तीसरा और आखिरी चरण है। अमेरिका यह डेटा साझा करने का समझौता मात्र अपने करीबी अंतरराष्ट्रीय साझेदारों के साथ करता है। इस समझौते पर हस्ताक्षर के साथ ही दोनों देशों के सशस्त्र सैन्य बलों के बीच घनिष्ठ जुड़ाव हो जायेगा। इस तरह के माध्यम से भारतीय सैन्य बल को और बैलेस्टिक मिसाइल के द्वारा सटीक निशाना लगाने में भारी मदद मिलेगी। इस चर्चा में सैन्य सहयोग की द्विपक्षीय रक्षा प्रणाली के ऊपर भी बात की जाएगी।

2+2 वार्ता
Photo – The Hindu

क्या हुआ दिल्ली औपचारिक मिटींग में ?

दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच दिल्ली में मुलाकात हुई। इसके बाद रक्षा मंत्रालय ने बयान जारी कर BECA समझौते के बारे में जानकारी दी। अभी निर्धारित हुआ कि आज दोनों देश के प्रतिनिधि बैठकर इस समझौते पर चर्चा कर हस्ताक्षर करेंगे।