इस राज्य के राज्यपाल ने लगाया सनसनी खेज आरोप, कहा राजभवन की जासूसी हो रही है!

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा है कि राजभवन की जासूसी की जा रही है. उन्होंने कहा कि इस तरह की हरकत से राजभवन की शुचिता कम होती है. जिसने भी ऐसी हरकत की है उसे सजा जरुर मिलनी चाहिए. राज्यपाल ने कहा की राजभवन इसको लेकर एक सूची तैयार कर रहा है जिसे जल्द ही सार्वजनिक किया जा सकता है. बता दें कि राज्य में पिछले कुछ समय से अराजकता का माहौल है औऱ लगभग एक साल से राज्य की तृणमूल कांग्रेस औऱ सरकार के बीच काफी खींचतान चल रही है ऐसे में राज्यपाल के इस वक्तव्य को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. राज्यपाल के इस आरोप के बाद केन्द्र की मोदी सरकार की नीदं उड़ सकती हैं.

जगदीप धनकड़ और ममता बनर्जी

राज्यपाल का आरोप राजभवन की हो रही है निगरानी  

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रविवार को आरोप लगाया है कि राजभवन पर निगरानी रखी जा रही है. इससे राजभवन की पवित्रता कम होती है. मैं इसकी पवित्रता की रक्षा के लिए सब कुछ करुंगा. जिन्होंने ऐसा किया है उन्हें सजा जरुर मिलनी चाहिए.

राज्यपाल ने कहा कि सर्विलांस से जुड़ी एक सूची राजभवन ने तैयार की है जिसे उनके परमिशन के बाद जारी किया जायेगा. इस मामले में उन्होंने गंभीर जांच शुरु कर दी है जिससे सच्चाई सामने आ सके. इससे पहले राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 74वें स्वतंत्रता दिवस पर राजभवन मे आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके अधिकारियों  के न शामिल होने को लेकर आपत्ति जताई.

टी पार्टी में भी नही पहुंची थी ममता बनर्जी

स्वतत्रंता दिवस के उपलक्ष्य मे राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा राजभवन मे आयोजित टी पार्टी में ममता बनर्जी के न पहुंचने को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं. जगदीप धनकड़ ने इस मामले को लेकर आपत्ति जताई है. दरअसल ममता बनर्जी ने रेड रोड पर स्वतंत्रता दिवस परेड का अवलोकन करने के बाद राजभवन पहुंची और वहां राज्यपाल से शिष्टाचार भेंट की. इस दौरान उनके साथ मुख्य सचिव राजीव सिन्हा और गृह सचिव अल्पन बंदोपाध्याय सहित कुछ अधिकारी भी मौजूद थे. लेकिन इसके बाद शाम को राजभवन में होने वाले परंपरागत समारोह में मुख्यमंत्री नही पहुंची थी इसको लेकर राज्यपाल धनकड़ ने उनकी कड़ी आलोचना की थी.

राज्यपाल ने ट्वीट कर आलोचना की

उन्होंने ट्वीट कर कहा- ‘’राजभवन में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री औऱ अधिकारियों की अनुपस्थिति ने मुझे चौंका दिया है. हमें अपने स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति सम्मान बढ़ाने की जरुरत है. जिन्होंने हमारी स्वतंत्रता और लोकतंत्र के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया. मेरे पास शब्द नही है.’’

इसके बाद एक और ट्वीट में उन्होंने सीएम की खाली कुर्सी की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा- ”राजभवन में स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में सीएम ममता बनर्जी के लिए रखी गई सीट खाली है. ऐसी अनचाही स्थिति पश्चिम बंगाल की समृद्ध संस्कृति को बिलकुल भी शोभा नही देती. ऐसी स्थिति निर्मित करने का कोई औचित्य ही नही था.”

बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव होने में अब एक साल से भी कम का समय बचा है. इस बीच केन्द्र की मोदी सरकार औऱ ममता बनर्जी के बीच जमकर टकराव देखा जा रहा है. कुछ समय पहले ही कोरोना वायरस को लेकर ठीक से लॉकडाउन का पालन न कराने औऱ प्रवासी श्रमिकों के वापसी को लेकर राज्य की सरकार निशाने पर थी. इसके अलावा राज्यपाल ने भी आरोप लगाया था कि पश्चिम बंगाल सरकार कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या छुपा रही है.