वायरल फोटो को लेकर दावा किया जा रहा है ‘सीएम योगी’ के साथ खड़ा व्यक्ति गैंगस्टर विकास दुबे है, लेकिन सच्चाई जानकर हैरान रह जायेंगे !

उत्तरप्रदेश के कानपुर में 3 जुलाई को गैंगस्टर विकास दुबे और पुलिस की बीच हुई फायरिंग में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. दिल-दहला देने वाली इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं. इस बीच सोशल मीडिया में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ खड़े एक व्यक्ति को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह वह गैंगस्टर विकास दुबे ही है जिसने कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया. उसके साथ लिखे गए पोस्ट में कहा जा रहा कि उसका संबंध बीजेपी से है. हालांकि सच्चाई जानकर आपके भी होश उड़ जायेंगे.

वायरल फोटो को लेकर कहा जा रहा है कि योगी के साथ दिख रहा शख्स गैंगस्टर विकास दुबे है

वायरल पोस्ट

कानपुर के चौबेपुर थानाअंतर्गत गैंगस्टर विकास दुबे और पुलिस के बीच हुए मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. यह खबर देखते ही देखते ही चारों तरफ फैल गई. इस खबर के बाद हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं. सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोग कह रहे हैं कि वह सपा से जुड़ हुआ है तो वहीं कुछ खबरों के अनुसार बीजेपी से उसके कनेक्शन हैं.

इस बीच सोशल मीडिया में उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ खड़े एक व्यक्ति की फोटो वायरल हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा कि यह व्यक्ति गैंगस्टर विकास दुबे ही है जिसने कानपुर में उसे पकड़ने गए 8 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया.

दावे में बीजेपी का उससे कनेक्शन को लेकर कई कटाक्ष भरे पोस्ट वायरल हो रहे हैं जिनमें कहा जा रहा है कि कि ‘आतंकी विकास दुबे राष्ट्रवादी पार्टी बीजेपी से ताल्लुक रखता है इसलिए उसे आतंकी नही बोल सकते.’

दूसरे पोस्ट में कहा जा रहा है कि ‘हर गुंडे अपराधी का संबंध भाजपा से है, कानपुर पुलिसकर्मियों की मौत का मुख्य अभियुक्त विकास दुबे भाजपा नेता के साथ’. ऐसे ही ढेर सारी पोस्ट वायरल हो रही हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि उसका संबंध भाजपा से है.

क्या है वायरल पोस्ट की सच्चाई

वायरल पोस्ट की पड़ताल करने पर जो सच्चाई सामने आई उसे जानकर आप हैरान रह जायेंगे. खोजबीन के बाद पता चला कि योगी आदित्यनाथ के साथ खड़ा व्यक्ति है तो विकास दुबे ही है लेकिन इसका गैंगस्टर विकास दुबे से कोई लेना-देना नही है. दरअसल योगी के साथ खड़े व्यक्ति भाजपा जनता युवा मोर्चा के कानपुर-बुंदेलखंड के क्षेत्रीय अध्यक्ष हैं. इनका फेसबुक मे विकास दुबे बीजेपी2 नाम से एकाउंट है और योगी आदित्यनाथ के साथ इनकी जो तस्वीर है वह 15 नवंबर 2019 को अपलोड की गई थी.

वायरल पोस्ट में इन्हें गैंगस्टर कहे जाने पर उन्होंने अपने एकाउंट पर एक वीडियो भी अपलोड की है जिसमें वह कह रहे हैं कि कुछ लोगों ने अपराधी विकास दुबे से उनका नाम जोड़ रहे हैं. यह उन्हें बदनाम करने की साजिश है और वह उन सबके खिलाफ केस दर्ज करवाने जा रहे हैं.

दोनों की तस्वीर मिलाकर की गई पड़ताल

पड़ताल के दौरान दोनों शख्स जिनका नाम एक ही है, की तस्वीर मिलान कर परखा गया जिसमें पाया गया कि दोनों की तस्वीर बिलकुल भी नही मिल रही है. इससे स्पष्ट हो गया कि योगी के साथ खड़ा व्यक्ति गैंगस्टर विकास दुबे नही बल्कि भाजपा युवा मोर्चा के क्षेत्रीय नेता हैं और वायरल पोस्ट में किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत है.

बता दें कि उत्तरप्रदेश के कानपुर में जब पुलिसकर्मी हिस्ट्री शीटर बदमाश विकास दुबे को पकड़ने पहुंची तो वहां मौजूद बदमाशों ने पुलिस पर अधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी. इस फायरिंग में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे जबकि आधा दर्जन के करीब घायल हुए थे.