अरुणाचल प्रदेश पर दावा कर रहे चीन को अमेरिका का करारा जवाब, कहा 50 साल से भारत का है और रहेगा..

लद्दाख में मुंहकी खाने के बाद अब चीन अरुणाचल प्रदेश का राग अलापने लगा है. वह दावा कर रहा है कि अरुणाचल चीन का हिस्सा है और यह दक्षिणी तिब्बत का एक भाग है. उधर भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को देखते हुए दुनियाभर की नजरें टिकी हुई हैं. खासकर अमेरिका इस मामले में बारीकी से नजर रखे हुए है. यह नही अमेरिका खुलेआम भारत के समर्थन में उतर आया है. उसका कहना है कि पिछले 60 सालों से अरुणाचल भारत का हिस्सा है और अमेरिका की तरफ से इस नीति में कोई बदलाव नही होने जा रहा है. बता दें कि चीन कोरोना महामारी और उसके बाद भारत के साथ उपजे सीमा विवाद के कारण अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी से अलग-थलग पड़ गया था.

अरुणाचल प्रदेश
Photo- punjabkesari.in

अमेरिका का बयान- अरुणाचल भारत का हिस्सा

अमेरिका के गृह विभाग ने कहा है कि ‘करीब 60 साल से अमेरिका ने अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा माना है. हम वास्तविक नियंत्रण रेखा पर किसी भी तरह की घुसपैठ, चाहे सैन्य हो या नागरिक, उसके जरिए क्षेत्रीय दावों को लेकर एकपक्षीय कोशिश का विरोध करते हैं.’  इसके अलावा मंत्रालय ने कहा है कि ‘विवादित क्षेत्रों के बारे में हम सिर्फ भारत और चीन को द्विपक्षीय वार्ता के जरिए उन्हें सुलझाने के लिए प्रेरित करते हैं और सैन्यबल इस्तेमाल न करने की अपील करते हैं.’

Also read-  India-China To Hold Another Round Of Diplomatic Talks On Border Stand-off In Eastern Ladakh Under (WMCC) Framework

बता दें कि पिछले महीने चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिन से जब अरुणाचल प्रदेश से गायब 5 युवकों के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने भारतीयों के बारे जानकारी देने की बजाय अरुणाचल को चीन का हिस्सा बता दिया था. लिजिन ने कहा चीन ने कभी अरुणाचल प्रदेश का मान्यता नही दी है. यह चीन का दक्षिणी तिब्बत इलाका है. हालांकि भारत हर बार चीन को करारा जवाब देते हुए अरुणाचल को अपना अभिन्न अंग बताया है.