Umar Khalid ने माना सुनियोजित थे दिल्ली दंगे, पुलिस का दावा फोन से मिला 40 GB दंगों से संबंधित डाटा

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की गिरफ्त में आए JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि Umar Khalid ने दिल्ली दंगों की साजिश रचने में अहम भूमिका निभाई थी।

मोबाइल में मिला 40 जीबी दंगों से संबंधित डाटा

पुलिस Umar Khalid के मोबाइल की फोरेंसिक रिपोर्ट और उसका विश्लेषण कर रही है। उमर खालिद के मोबाइल से 40 जीबी डेटा दंगों से संबंधित मिला है। बता दें उमर खालिद दस दिन की पुलिस रिमांड पर है, जांच में पता लगा है कि उमर खालिद दिसंबर 2019 से ही CAA-NRC के विरोध में दंगों की साजिश रचने में शामिल था।

Also Read – इस साल अयोध्या में सरयू किनारे होगी खास Ramlila, बड़े बड़े नेता-अभिनेता करेंगे एक्टिंग

Umar Khalid ने दिए थे भड़काऊ भाषण

जांच में ये भी पता लगा है कि उमर खालिद ने पूर्वी दिल्ली में कई धरना स्थलों पर भड़काऊ भाषण दिया था। उससे प्रदर्शनकारी इसके उकसावे में आ गए थे। Umar Khalid कई व्हाट्सएप ग्रुप से भी जुड़ा हुआ था। वह ग्रुप के माध्यम से दंगों की भूमिका तैयार कर रहा था।

क्यों हुई Umar Khalid की गिरफ्तारी

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने हाल ही में जो पूरक आरोपपत्र तैयार किया था जिसमें पिंजरा तोड़ की सदस्यों ने उमर खालिद की साजिश के बारे में खुलासा किया था।

दंगों के लिए कैसे तैयार हुई साजिश

पुलिस ने पूरक आरोपपत्र में कहा है कि उमर खालिद व राहुल राय के कहने पर ऐसी जगहों को धरना-प्रर्दशनों के लिए चुना गया, जहां लोगों का आवागमन ज्यादा रहता है। ताकि ऐसे हालत पैदा हों जिससे आम लोगों में टकराव हो और दंगे भड़क जाएं। उमर खालिद के कहने पर महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा धरना स्थलों पर एकत्रित किया गया था, ताकि पुलिस बल का प्रयोग न करे।