15 मिनट दो धमाके और पूरा शहर बरबाद..देखिए कैमरे में कैद कयामत !

लेबनान की राजधानी बेरुत में मंगलवार को जो कुछ हुआ उसे देख और सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे. यहां हुए कुल दो धमाकों में करीब 80 लोगों की मौत हुई है. घटना मे 4000 लोगों के घायल होने की खबर है. धमाका इतना शक्तिशाली था कि पूरा शहर बरबाद हो गया. गाड़ियों के शीशे और इमारतों की खिड़कियां चकनाचूर हो गई. जो नुकसान हुआ है उसका अंदाजा लगाना मुश्किल है. धमाके की असली वजह अभी सामने नही आई है लेकिन कहा जा रहा है कि यहां के बंदरगाह मे रखे 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में विस्फोट होने से यह तबाही हुई है.

विस्फोट के बाद बेरुत शहर

लेबनान की राजधानी बेरुत में भयानक विस्फोट

बेरुत के बंदरगाह इलाके में दोपहर बाद हुए भयानक विस्फोट में पूरा बेरुत शहर बरबाद हो गया है. गौर करने वाली बात यह है कि कोई हमला नही था बल्कि यहां रखे 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में विस्फोट के काऱण यह हादसा हुआ है. कहा जा रहा है कि यह विस्फोट इतना भयावह था कि चारों तरफ भूकंप के बाद जैसा नजारा था. लोग बदहवास इधर-उधर भाग रहे थे. आसमान में सबसे पहले सफेद ऊंचा गुबार देखा गया उसके बाद एक जोरदार धमाका हुआ जिसके बाद चारों तरफ धुआं औऱ तबाही दिखाई देने लगी.

खबर के अनुसार कम से कम 10 किलोमीटर दूरी तक के घरों को नुकसान पंहुचा है. इस विस्फोट में  अब तक 80 लोगों की जान गई है. गगनचुंबी इमारतो के जमीदोंज होने की वजह से मलबे में काफी लोगों के दबे होने की आशंका है.

कैसे हुआ विस्फोट

विस्फोट कैसे हुआ इसकी अभी असली वजह सामने नही आई है. लेकिन कहा जा रहा है शहर के तटीय इलाके में 2750 टन विस्फोटक अमोनियम नाइट्रेट रखा हुआ था इसी में किसी वजह से विस्फोट हुआ है. यह विस्फोटक 2014 से ही यहां पर रखा गया था लेकिन यह असुरक्षित तरीके से कैसे स्टोर था इसकी जांच की जा रही है. यह धमाका इतनी तेज था कि इसकी आवाज पूर्वी भूमध्यसागर में 240 किलोमीटर दूर साइप्रस तक सुनी गई.

बेरुत मे लगाया गया इमरजेंसी

घटना के बाद लेबनान के राष्ट्रपति ने बेरुत मे दो हफ्ते के लिए इमरजेंसी लागू कर दिया है. राष्ट्रपति माइकल इयोन ने ट्वीट कर कहा है कि यह बिल्कुल अस्वीकार्य है कि 2750 टन विस्पोटक नाइट्रेट असुरक्षित तरीके से स्टोर कर रखा गया था. धमाका कैसे हुआ इसकी जांच जारी है. इसके साथ ही लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब ने बुधवार को राष्ट्रीय शोक दिवस की घोषणा की है.