भारत सरकार द्वारा सोशल मीडिया को लेकर सख्त नियम बनाने के बाद ट्विटर ने दिया ये बयान 

39

पिछले दिनों भारत सराकार ने सोशल मीडिया से लेकर OTT के लिए सख्त नियमों की घोषणा की थी जिसमें अगर कोई भी फर्जी संदेश सोशल मीडिया पर घूमता है और उसके खिलाफ किसी भी प्रकार की शिकायत आती है तो वेबसाइट या app को ये बताना पड़ेगा कि आखिर इस मैसेज की उत्पत्ति कहां से हुई है वहीं अगर OTT प्लैटफॉर्म पर कोई भी आपत्तिजनक Content आता हैं तो शिकायत के बाद उस Content को 24 घंटे के अंदर Platform से हटाना पड़ेगा वहीं अब इन सब के बीच ट्विटर ने भी अपना बयान दिया है।

Twitter ने कहा परदर्शीता पर काम करेंगे हम 

ट्विटर के CEO ने ट्विटर कंपनी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि Transparency को लेकर थोड़ी कमी  है जिसे लेकर हम काम करेंगे, उन्होने ये भी कहा कि हम अकेले नहीं हैं जो Transparency को लेकर थोड़ें ढीले हैं बल्कि ऐसे कई संस्थान हैं जो इसपर काम कर रहे हैं, वहीं इस मौके पर उन्होने कहा कि जो अकाउंट आपत्तिजनक है उनपर हम नकेल कसने की पूरी कोशिश करते हैं लेकिन जबतक ये प्रोसेस पूरी नहीं हो जाती इसके लिए हमने Mute और Block करने की सुविधा यूजर्स को दी हुई है। 

 

ट्विटर
Twitter

रविशंकर प्रसाद का ट्विटर पर फूटा था गुस्सा 

पिछले दिनों लोकसभा में ट्विटर को लेकर रविशंकर प्रसाद का गुस्सा फूटा था जहां   किसान आंदोलन पर हुई हिंसा के बाद भारत सरकार ने ट्विटर को कुछ नाम भेजे थे जिनका अकाउंट वो ब्लॉक कराना चाहती थी लेकिन ऐसा हो नहीं पाया जिसके बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ट्विटर पर बरस पड़े थे। उन्होने ट्विटर का नाम लेकर चेतावनी दी कि सोशल मीडिया का   दुरुपयोग करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। वहीं दादागिरी करने वालों को भी छोड़ा जाएगा जिसके बाद हाल ही में इसे लेकर नियम जारी किए गए।

ट्विटर
Twitter