डील तोड़ने पर ट्विटर ने किया एलन मस्क के खिलाफ, मस्क और ट्विटर के शेयरों में गिरावट

सोशल मीडिया मंच ट्विटर को खरीदने का करार तोड़ने पर इस सोशल साइट ने स्पेसएक्स व टेस्ला के मालिक एलन मस्क के खिलाफ कोर्ट में केस दायर कर दिया है। मस्क ने 44 अरब डॉलर में यह डील की थी, लेकिन धीरे-धीरे इससे पीछे हट गए और अब करार खत्म करने की घोषणा कर दी।

करार तोड़ने को लेकर ट्विटर ने मंगलवार को अमेरिका के डेलावेयर की अदालत में मस्क पर केस लगाया। अपनी अर्जी में विश्व की अग्रणी सोशल मीडिया साइट ट्विटर ने कोर्ट से कहा है कि वह दुनिया के सबसे अमीर शख्स को यह करार पूरा करने का निर्देश दे। मस्क ने 54.20 डॉलर के मान से ट्विटर के शेयर खरीदने का करार किया था।

इस घटनामक्रम से दोनों कंपनियों के शेयर नीचे आएं हैं। अप्रैल में मस्क ने ट्विटर खरीदने का एलान किया था और ट्विटर के बोर्ड ने इसे मंजूर किया था, तब सोशल साइट के शेयर के दाम उछलकर 50 डॉलर पर पहुंच गए थे, लेकिन मंगलवार को ये गिरकर 34 डॉलर पर आ गए। उधर, मस्क की कंपनी टेस्ला के शेयर भी 30 फीसदी नीचे आ गए हैं। टेस्ला के शेयर मंगलवार को 699.21 डॉलर के दाम पर बंद हुए। मस्क ने यह कह कर करार खत्म करने का फैसला किया कि ट्विटर के स्पैम व फर्जी खातों की सही संख्या का पता नहीं है। बार-बार मांगने पर भी सोशल साइट इस बारे में पुख्ता जानकारी नहीं दे रही है। ऐसे में करार को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता।

मस्क ने कहा कि स्पैम खातों के बारे में जानकारी नहीं होने और गलत दावों के कारण वह यह करार खत्म कर रहे हैं। डील टूटने का जिम्मेदार ट्विटर है, क्योंकि वह जानकारियां देने में विफल रहा है, जबकि वह ये जानकारियां देने को बाध्य था। वहीं ट्विटर ने कहा कि उसने करार जारी रखने के लिए बातचीत की थी, लेकिन मस्क ने उसका उल्लंघन किया। मस्क जो कारण बता रहे हैं वे मात्र ‘बहाना’ हैं। करार तोड़ने का कोई ठोस आधार नहीं है। असल में डील तोड़ने की वजह टेक कंपनियों के शेयरों में आई गिरावट है। इसके कारण मस्क ने करार खत्म किया।

अधिग्रहण व विलय को लेकर अमेरिकी कानूनों के जानकारों का कहना है कि ट्विटर के दावे में दम है। जिस ढंग से मस्क ने सौदे पर बातचीत की और फिर उसे तोड़ा वह परंपरागत अधिग्रहण के तरीकों की दृष्टि से अनुचित है। अब देखना होगा कि कोर्ट क्या रुख अपनाती है।