मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का लाभ लेने के लिए ‘युथ कांग्रेस’ नेता ने की पत्नी से दोबारा शादी करने की कोशिश, आया पकड़ में

मध्य प्रदेश: कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के समन्वयक नैतिक चौधरी को मध्य प्रदेश पुलिस ने उस समय पकड़ा जब वह मध्यप्रदेश के सागर जिले के बालाजी मंदिर परिसर में एक सामूहिक विवाह सम्मेलन में उस महिला से शादी करने पहुंचे थे, जो वास्तव में उसकी पत्नी थी। जानकारी अनुसार 15 दिन पहले ही शादी हुई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नैतिक चौधरी ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का लाभ उठाने के लिए अपनी पत्नी से दोबारा शादी करने की कोशिश की।

हालांकि उसकी यह योजना काम नहीं आई। कार्यक्रम स्थल पर इंतजार करते हुए और शादी करने के लिए बैठे, उसे आयोजकों ने पकड़ लिया और उन्होंने पुलिस को बुलाया।

पुलिस को सूचना मिली तो वे सागर जिले के धर्मश्री स्थित बालाजी मंदिर परिसर में पहुंचे और नैतिक को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया गया।

बता दें एनएसयूआई कांग्रेस की छात्र शाखा है। जब यह मामला सुर्खियों में आया तो यह राजनीतिक लड़ाई में बदल गया क्योंकि भाजपा के राज्य मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने ट्विटर पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए हिंदी में पोस्ट किया।

“यह श्रीमान एनएसयूआई के राष्ट्रीय समन्वयक हैं। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का लाभ लेने के लिए दूसरी बार विवाह रचाने चले थे।
खबर है कि पुलिस ने दबोच लिया है ।
क्या कहते हैं कमलनाथ जी!”