वडोदरा में पटाखे फोड़ने को लेकर दो समुदायों के बीच हुई झड़प पूर्व नियोजित: पुलिस

दिवाली पर पटाखे फोड़ने को लेकर वडोदरा में दंगा हो गया। इस मामले में दोनों पक्षों के 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मामले जांच कर रही गुजरात पुलिस का दावा है कि स्ट्रीट लाइट बंद कर दी गई थी और पेट्रोल बम भी फेंके गए। यह दर्शाता है कि दंगा पूर्व नियोजित था।

पुलिस के अनुसार, वडोदरा के संवेदनशील पानीगेट इलाके में सोमवार को दिवाली की देर रात 12:30 दो समुदायों के बीच पथराव हो गया। हिंसा के बाद दोनों पक्षों के 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। वडोदरा पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम का गठन किया है। जांच में सामने आया है कि बवाल एक बाइक में रॉकेट लग जाने के बाद हुआ। हिंसा से पहले उपद्रवियों ने इलाके के स्ट्रीट लाइट्स को बंद कर दिया था, ताकि अंधेर में उनकी पहचान ना हो सके। जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है, उनमें एक ऐसा शख्स भी शामिल है जिसने पुलिसकर्मियों पर पेट्रोल बम से हमला किया।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, यह इलाका बेहद संवेदनशील है। पिछले चार महीने में एक ही इलाके में तीन बार दंगे की घटनाएं हो चुकी हैं। पटाखों को लेकर शुरू हुआ विवाद जल्द ही तोड़फोड़ में बदल गया। स्ट्रीट लाइट बंद होने के कारण कई दुकानों में तोड़फोड़ की गई और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। जब पुलिस अधिकारी कानून-व्यवस्था बहाल करने के लिए इलाके में पैट्रोलिंग कर रहे थे तब उन पर पेट्रोल बम भी फेंके गए। इस दौरान पथराव भी किया गया। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस घटना की जानकारी और आरोपियों की पहचान करने के लिए आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। घटना की विस्तृत जांच की जा रही है। पुलिस ने अपराधियों को पकड़ने के लिए ऑपरेशन शुरू कर दिया है। बता दें कि इससे पहले इस महीने की शुरुआत में वडोदरा के सावली शहर में सब्जी मंडी में सांप्रदायिक झड़प में 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

सांप्रदायिक हिंसा मंगलवार देर रात करीब 12:30 पर वडोदरा के पानीगेट इलाके में हुई, जो बेहद संवदेनशील माना जाता है। पहले भी इसी इलाके में सांप्रदायिक तनाव हुआ था। बताया जा रहा है कि बवाल एक बाइक में रॉकेट लग जाने के बाद हुआ। वडोदरा के डीसीपी यशपला जागानिया ने कहा कि झड़प में कोई घायल नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि एक मोटरसाइकिल पर रॉकेट पटाखा गिर जाने से इसमें आग लग गई। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पटाखों फोड़ने को लेकर हुए विवाद के बाद लोग एक दूसरे पर बम फेंकने लगे। दो समुदाय के लोगों ने एक दूसरे पर पत्थर भी फेंके। घटना के बाद इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई और स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में हैं। उन्होंने कहा कि घटना में शामिल दोनों समुदाय से लोगों की पहचान की जा रही है। संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।