फारूक अब्दुला के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने की सुनवाई, जानिए क्या कहा

19

पिछले दिनों फारूक अब्दुल्ला ने धारा 370 पर एक बयान जारी किया था, जिसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में उनके खिलाफ याचिका दायर की गई थी, ये याचिका रजत शर्मा ने दायर की थी जिसपर अब सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की हैं।

सरकार के खिलाफ़ बोलना देशद्रोह नहीं.

इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर किसी के विचार सरकार के नीतियों से अलग हैं और वह सरकार के खिलाफ बोलता है तो ये कोई देशद्रोह नहीं हैं, सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई कर रही संजय किशन कॉल ने कहा कि सबके अपनी विचारधारा हो सकती है सरकार के खिलाफ बोलना कोई गलत बात नहीं है,  सरकार के खिलाफ बोलना देशद्रोह नहीं माना जा सकता, वहीं सुप्रीम कोर्ट ने दाखिल याचिका को खारिज भी कर भी कर दिया, इतना ही नहीं याचिकाकर्ता की मुश्किलें और ज्यादा बढ़ गई।

बढ़ी याचिकाकर्ता की मुश्किलें

कोर्ट ने फारूक अब्दुल्ला को राहत दे दिया वहीं याचिकाकर्ता रजत शर्मा पर 50,000 रुपयों का जुर्माना अलग से ठोक दिया, वहीं सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका को भी खारिज कर दिया जिसमें ये अब्दुल्ला पर ये आरोप लगाया गया था कि वो चीन के साथ मिलकर जम्मू – कश्मीर में वापस धारा 370 लगवाना चाहते हैं। इस मुद्दे पर फारूक अब्दुल्ला की पार्टी नेशनल कांफ्रेंस ने भी साफ कर दिया था कि उन्होने ऐसा कोई बयान नहीं दिया उनके बयान को तोड़ – मरोड़कर दिखाया जा रहा है।