Subramanian Swamy लाएंगे धार्मिक संस्थाओं के पैसों का हिसाब रखने के लिए प्राइवेट बिल

बीजेपी के राज्यसभा सांसद Subramanian Swamy ने देश के धार्मिक संस्थाओं के बारें में एक बड़ी बात कही है, यह तो सबको पता ही है कि भारत देश में धार्मिक संस्थाओ की संख्या लाखों नहीं करोड़ों में है वहीं उनकी कमाई भी लाखों- करोड़ों में होती है, लेकिन देश में धार्मिक संस्थानों के ऑडिट की कोई व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। धार्मिक संस्थाएं पूरी तरह से स्वतंत्र होती हैं और उनपर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं होता है, ना ही सरकार उनसे कोई हिसाब लेती है।

Subramanian Swamy
Photo – Social Media

बीजेपी के राज्यसभा सांसद Subramanian Swamy ने अब इस मसले पर एक बड़ा बयान देते हुए कहा है कि वह जल्द ही धार्मिक संस्थाओं से संबंधित एक बिल संसद में लाने का मन बना रहे है।

बता दें देश में लंबे वक्त से धार्मिक संस्थानों के ऑडिट की मांग उठती रही है। इस माँग के पीछे मुख्य कारण यह है कि धार्मिक संस्थानों का हिसाब-किताब इसलिए हो ताकी वह पैसों का कोई गलत इस्तेमाल ना कर सकें।

Also Read – IPL के वो TOP 5 बॉलर्स जो डेथ ओवर्स में दिखाते है गेंदबाजी का जादू

Subramanian Swamy ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि जब कोरोना महामारी खत्म हो जाएगी और फिर से संसद का सत्र बुलाया जाएगा, तो मैं सभी धर्मों के धार्मिक संस्थानों का CAG ऑडिट अनिवार्य करने के लिए एक प्राइवेट मेंबर बिल लाएंगे। अब लोगों को इसका जमकर समर्थन मिल रहा है और देश में इसको लेकर बात फिरसे शुरू हो गई है।