अंतरिक्ष जाने वाली पहली भारतीय महिला Kalpana Chawla के नाम पर रखा गया अमेरिकी स्पेसक्राफ्ट का नाम

129

अंतरिक्ष यात्री Kalpana Chawla का नाम जब भी सुनाई देता है भारतीयों का सर गर्व से ऊँचा हो जाता है, अंतरिक्ष जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला कल्पना चावला के नाम पर एयरोस्पेस कंपनी नॉर्थरोप ग्रुमैन ने अपने लांच होने वाले सिग्नस स्पेसक्राफ्ट का नाम रखा है। नासा और नॉर्थरोप ग्रुमैन ने यह जानकारी दी है। बता दें 2003 में अंतरिक्ष यान में हुई एक दुर्घटना में Kalpana Chawla और छह साथियों की दर्दनाक मौत हो गई थी।

मानव अंतरिक्षयान में Kalpana Chawla के प्रमुख योगदानों के लिए उन्हें यह सम्मान दिया जा रहा है, अमेरिकी वैश्विक एरोस्पेस एवं रक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी, नॉर्थग्रुप ग्रमैन ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर घोषणा करते हुए कहा है कि अपने अगले अंतरिक्षयान सिग्नेस का नाम मिशन विशेषज्ञ Kalpana Chawla की याद में “एस.एस कल्पना चावला” रखा जाएगा जिनकी 2003 में कोलंबिया में अंतरिक्षयान में सवार रहने के दौरान चालक दल के छह सदस्यों के साथ मौत हो गई थी। कंपनी ने ये भी कहा कि मानव अंतरिक्षयान में उनके योगदान का दीर्घकालिक प्रभाव रहेगा। NASA ने भी ट्वीट करके जानकारी दी ।

Also Read – IPL 2020 Anthem Song पर लगा चोरी का आरोप, फैंस कर रहे हैं BCCI को ट्रोल

Kalpana Chawla का जीवन परिचय

Kalpana Chawla
Photo – NASA

कल्पना चावला का जन्म 17 मार्च 1962 को हरियाणा के करनाल में हुआ था। साल 1988 में कल्पना चावला ने नासा ज्वॉइन किया। कल्पना चावला ने 19 नवंबर 1997 को अपना पहला अंतरिक्ष मिशन शुरू किया था। तब उनकी उम्र 35 साल थी। उन्होंने 6 अंतरिक्ष यात्रियों के साथ स्पेस शटल कोलंबिया STS-87 से उड़ान भरी। अपने पहले मिशन के दौरान कल्पना ने 1.04 करोड़ मील सफर तय करते हुए करीब 372 घंटे अंतरिक्ष में बिताए थे। उनके दूसरे मिशन के दौरान 1 फरवरी 2003 को कोलंबिया अंतरिक्ष यान पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश कर रहा था तभी अचानक दुर्घटना का शिकार हो गया जिसमें Kalpana Chawla सहित छह साथियों की दर्दनाक मौत हो गई।