अब भारतीय सेना के जवानों को अपने मोबाइल से हटाना होगा 89 Apps? जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

हाल ही भारत सरकार ने 59 चीनी एप्प को बंद करने का फैसला लिया था. जिसके बाद कई लोकप्रिय एप्प लोगों के फ़ोन में काम करना बंद कर चुके हैं हालाँकि अब भारतीय सेना ने जवानों को अपने मोबाइल से 89एप्प को हटाने का आदेश जारी कर दिया है. एक लिस्ट जारी करके सेना के सभी जवानों को अपने मोबाइल से इन एप्प को हटाने का आदेश दे दिया गया है. क्या आप जानते हैं इसके पीछे की वजह क्या है?

दरअसल सेना को आंदेशा था कि दुश्मन इन एप्प के जरिये सेना के गतिविधियों और गुप्त जानकारियों को  इकट्ठा कर सकते हैं. साथ ही साथ पिछले कुछ समय से भारतीय सेना के जवान हनी ट्रैप का शिकार हो रहे थे. हनी ट्रैप मतलब दुश्मन की ट्रेंड लड़कियां भारतीय सेना के जवानों की इन एप्प पर पहचान करती थी. फिर उन्हें प्रेम जाल में फंसाती थी. उसके बाद उन्हें ब्लैकमेल करके या प्यार में सारी जानकारियाँ ले लेती थी.इस तरह की कई घटनाएं सामने आई जिसमें पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी की एजेंट लडकियां शामिल पायी गयी.

आपको बता दें कि जिन 89 एप्प को अब भारतीय सेना के जवान उपयोग नही कर पायेंगे उसमे फेसबुक, इन्स्टाग्राम भी शामिल है. टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक सेना के एक अधिकारी ने बताया है-ये कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि सैन्य अधिकारियों और सैनिकों पर इन ऐप्स के जरिए चीन और पाकिस्तान द्वारा ऑनलाइन निगाह रखने की घटनाएं बढ़ी हैं. इसी के साथ आपको ये भी बता दें कि कुछ समय पहले ही सेना ने अपने अधिकारियों को निर्देश दिया था कि अधिकारिक काम के लिए अधिकारी व्हास्ट्सएप्प का इस्तेमाल नही करेंगे. इसी के साथ जो अधिकारी महत्वपूर्ण पदों पर थे उनसे उनका फेसबुक अकाउंट भी डिलीट करवा दिया गया था.

हालाँकि मिली ख़बरों के मुताबिक़ भारतीय नौसेना ने गोपनीय सूचनाओं और राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर नेवी ने भी अपने सभी स्टाफ के फेसबुक इस्तेमाल पर पहले ही बैन लगा दिया है. साथ ही नेवी बेस पर स्मार्ट फोन न ले जाने के भी आदेश दिए गए हैं. नेवी में ये निर्णय बीते दिसंबर महीने में ही ले लिया गया था, अभी तक भारतीय जवानों को कुछ शर्तों के साथ सोशल मीडिया के इस्तेमाल करने की मंजूरी थी, लेकिन अब पूर्ण रूप से पाबंदी लगा दी गयी है. आपको ये भी बता दें कि सोशल मीडिया पर प्रेम जाल फंसकर या फिर लोकेशन शेयर करने की वजह से कई जवानों का कोर्ट मार्शल भी हो चुका है.

ऐसे में अब भारतीय सेना के जवानों को 89 एप्प्स की लिस्ट जारी कर मोबाइल से हटाने का निर्देश दिया गया है. आदेश के मुताबिक सभी को इसे 15 जुलाई तक पूरा कर लेना है. ये निर्णय सेना की संवेदनशील जानकारियों के लीक होने का हवाला देकर लिया गया है. सेना ने कहा है कि जिनके भी मोबाइल में फेसबुक, इंस्टाग्राम के अलावा ये 89 ऐप मिले तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. सभी जवानों को 15 जुलाई तक अपने मोबाइल से लिस्ट में दिए गये सारे एप्प हटाने हैं.