रईसी भरा जीवन जीने के लिए चोरी करने वाला सोशल मीडिया स्टार अभिमन्यु गुप्ता मुंबई में गिरफ्तार

मुंबई: ‘नाम बड़े काम छोटे’ इस कहावत को सार्थक किया है मुंबई के 30 वर्षीय प्रसिद्ध सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर अभिमन्यु गुप्ता ने। जिसने रईसी भरा जीवन जीने के लिए चोरी और घरों में तोड़-फोड़ करने का कुकृत्यों को अंजाम दिया। अपराधी अभिमन्यु के खिलाफ गुरुवार को मुंबई पुलिस ने मामला दर्ज किया।

पुलिस के अनुसार, उसके घर से सबूत इकट्ठे किए गए हैं जिनमें 14 मोबाइल फोन, धारदार हथियार, नकली आभूषणों के साथ-साथ विदेशी मुद्रा भी शामिल है। इस बीच पुलिस ने आरोपी की सारी चीजें जब्त कर ली हैं।

गौरतलब है कि अभिमन्यु गुप्ता सोशल मीडिया की एक जानी-मानी हस्ती है, जिसके भारत में प्रतिबंधित प्लेटफॉर्म टिक-टॉक पर बड़ी संख्या में फॉलोवर्स थे।

पुलिस रिपोर्ट के अनुसार, वह कथित तौर पर मुंबई, नवी मुंबई और ठाणे जिले में घरों में तोड़-फोड़ करता था ताकि वह अपने आलीशान जीवन के लिए पैसे जुटा सके। इसके लिए वह पहचान छुपाने के लिए टोपी और चेहरे पर नकाब पहनकर घूम रहा हो।

हाल ही में, वह उपनगर कुर्ला में एक बंद घर में घुस गया और वहां से सोने और चांदी के गहने लेकर भाग गया।

इस बीच कथित सुपरस्टार फिर से सुर्खियों में आया जब वह परिवार वापस लौटा और पाया कि उनके गहने गायब थे। जिसके बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस उप निरीक्षक पद्माकर पाटिल ने कहा,” शिकायत मिलने के बाद, हमने मामले की जांच शुरू की और 150 से अधिक सीसीटीवी फुटेज को स्कैन किया, लेकिन शुरुआत में गुप्ता की पहचान स्थापित करने में विफल रहे क्योंकि उसने टोपी और चेहरे का मुखौटा पहन रखा था। एक जगह सीसीटीवी की जांच करते हुए उसने अपनी टोपी और चेहरे का मुखौटा हटा दिया, और हमने उसकी पहचान टिकटोकर गुप्ता के रूप में की। एक दिन हमें सूचना मिली कि आरोपी कुर्ला आ रहा है, जहां हमने जाल बिछाया और उसे पकड़ लिया।

पद्माकर पाटिल ने दावा किया, “आरोपी ने मुंबई क्षेत्र में 15 से अधिक घर तोड़ने की बात कबूल की है, जिनमें से चार कुर्ला में हैं।”

गुप्ता महंगा सामान ही नहीं चुराता था बल्कि घर के बाहर रखे जूते-चप्पल भी नहीं छोड़ता था। इस दौरान गुप्ता के घर की तलाशी लेने पर पुलिस को जूतों से भरे चार बोरे मिले।

गुप्ता पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), की धारा 380 (घर में चोरी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।