राज्यसभा चुनाव में रचा गया नया इतिहास, भाजपा हुई और मजबूत वहीं कांग्रेस पहुंची अपने न्यूनतम पर

राज्यसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के सभी 11 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए। इस उपचुनाव से राज्यसभा के सभी समीकरण बदल गए हैं। उच्च सदन के इतिहास में भाजपा पहली बार इतनी अच्छी स्थिती पर है और कांग्रेस अपने सबसे खराब दौर से गुजर रही है। यूपी और उत्तराखंड की सीट मिलाकर भाजपा की सदन में कुल सीटें 92 हो गई है जबकि कांग्रेस की केवल 38 सीटें ही बची हैं।

Photo – The News Minute

राज्यसभा चुनाव में इस बार की सीटों का समीकरण

सदन में बनते समीकरणों को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि अब राज्यसभा में भी एनडीए का बहुमत हो सकता है। राज्यसभा में कुल 245 सीटें होती है जिसमें से 12 सीटों पर पर बैठने वाले लोगों का चुनाव राष्ट्रपति करते हैं। इस राज्यसभा चुनाव के बाद सदन में एनडीए की 112 सीटें हो गई है सदन में बहुमत के लिए मात्र 10 सीटों की कमी रह गई है।

Also Read – रेलवे बोर्ड ने अनारक्षित टिकट और वेटिंग लिस्ट टिकट को लेकर जो बात कही है उसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे 

राज्यसभा चुनाव
Photo – India Today

एनडीए को मिल सकती है दो तिहाई बहुमत

इस चुनाव के पश्चात आने वाले शीतकालीन सत्र में एनडीए को 150 के लगभग लोगों का समर्थन मिल सकता है जो की दो तिहाई बहुमत के बेहद करीब है। दो तिहाई बहुमत के लिए 164 सांसदों का समर्थन चाहिए होता है। राज्यसभा सदन में जहां भाजपा की पहले अच्छी पकड़ नहीं थी आज इतना समर्थन प्राप्त कर लेना बहुत बड़ी बात है। हो सकता है आने वाले समय में बीजेपी गवर्नमेंट इस बात का फायदा उठाकर कई नए संवैधानिक संशोधन और बिल पास करवा सकती है।