रविवार का दिन संसद के लिए काला दिन, राज्यसभा से विपक्ष के 8 सांसद एक हफ्ते के लिए निलंबित !

कृषि बिल पर चर्चा के दौरान रविवार को राज्यसभा में हंगामा करने वाले 8 सदस्यों को सभापति एम. वैंकेया नायडू ने निलंबित कर दिया है. जिन सांसदों को निलंबित किया गया है उनमें कांग्रेस के तीन, तृणमूल कांग्रेस और सीपीआई के दो-दो औऱ आम आदमी का एक सदस्य शामिल हैं. यह सांसद 1 हफ्ते के लिए निलंबित किए गए हैं. उधर विपक्ष द्वारा डिप्टी चेयरमैंन के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव सभापति एम. वैंकेया नायडू ने अस्वीकार कर दिया जिसके बाद हुए हंगामें के बीच सदन 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

रज्यसभा सांसद
Photo- rashtrachandika.com

राज्यसभा सभापति ने 8 सदस्यों को किया निलंबित

रविवार को कृषि बिल पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में सांसदों द्वारा किए गए अशोभनीय बर्ताव पर सभापति एम. वैंकेया नायडू ने नाराजगी जताई है. उन्होंने TMC  सांसद डेरेक ओ ब्रायन, आप सांसद संजय सिंह, राजू सातव, केके रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैय्यद नजीर हुसैन और एलमरान करीम को पूरे एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया है.

राज्यसभा चेयरमैन ने सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरु होते ही कहा कि कल का दिन राज्यसभा के लिए बहुत बुरा दिन था. जब कुछ सदस्य सदन के वेल तक आ गए. डिप्टी चेयरमैन के साथ धक्का-मुक्की की गई. उन्हें अपना काम करने से रोका गया. यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. मैं सांसदों को सुझाव देता हूं, कृपया थोड़ा आत्मनिरीक्षण कीजिए.

Also read- Parliament Monsoon Session 2020: Central Government Introduces Three Labour Bills In Lok Sabha

इस लिए हुआ था हंगामा

राज्यसभा में रविवार को कृषि विधेयक पर चर्चा के दौरान उस समय अजीब स्थिति पैदा हो गई थी जब सदन की बैठक का समय विधेयक को पारित करने के लिए निर्धारित समय से आगे बढ़ा दिया गया. विपक्ष ने कहा कि इस तरह का फैसला केवल सर्वसम्मति से ही लिया जा सकता है और वह सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सभापति के आसन के सामने इकट्ठा हो गए. सदस्यों ने चेयर के पास पहुंचकर दस्‍तावेज फाड़ दिए. उपसभापति हरिवंश इन सांसदों को कोरोना वायरस की याद दिलाते रहे मगर उन्‍होंने बिलकुल न सुनी. हंगामा इतना बढ़ गया कि मार्शल को बुलाना पड़ा.