गर्व का क्षण: लद्दाख में अग्रिम चौकियों पर मेड इन इंडिया इन्फैंट्री लड़ाकू वाहन तैनात

मेड इन इंडिया इन्फैंट्री लड़ाकू वाहनों को 24 जून को लद्दाख के लेह जिले में भारतीय सेना में शामिल किया गया। इन इन्फैंट्री प्रोटेक्टेड मोबिलिटी व्हीकल्स को संयुक्त रूप से रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन और टाटा समूह द्वारा विकसित किया गया है।

नए वाहनों को शुक्रवार को उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी द्वारा संचालित किया गया। द्विवेदी के अनुसार, इन युद्ध वाहनों को इस क्षेत्र के चुनौतीपूर्ण इलाके में आसानी से चलाया जा सकता है।

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने बताया,“कोई भी आसानी से वाहन चला सकता है और चालक उससे 1,800 मीटर दूर देख सकता है। इस पर लगे हथियार को अंदर से नियंत्रित किया जा सकता है। ”

इन इन्फैंट्री प्रोटेक्टेड मोबिलिटी व्हीकल्स (आईपीएमवी) को इस साल अप्रैल में भारतीय सेना को डिलीवर किया गया था।

लद्दाख क्षेत्र के कठोर वातावरण में जांच और परीक्षण के बाद वहां तैनात सैनिकों के कौशल में सुधार के लिए वाहनों को शामिल किया गया है।