पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee के निधन पर भारत सहित दुनियाभर में शोक, कई राष्ट्राध्यक्षों ने जताया दुख

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee के निधन पर राष्ट्रीय शोक है तो वहीं दुनिया भर के तमाम देश पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन दुख व्यक्त कर रहे हैं, भारत रत्न प्रणब मुखर्जी एक प्रखर व्यक्तित्व के धनी थे एवं जमीन से जुड़े नेता होने के साथ ही अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी कई राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रणब दा के मुरीद थे।

पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee के निधन के बाद कई देशों के बड़े नेता सोशल मीडिया पर ट्वीट के जरिए उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। उनके निधन पर राष्ट्रीय नेताओं के साथ अंतरराष्ट्रीय नेताओं ने दुख जताया और उनके योगदान को याद किया है। इसमें अमेरिका, रूस, इजरायल, श्रीलंका, नेपाल, भूटान जैसे देश शामिल हैं।

Also Read – JEE Main Exam गाइडलाइन कि ये 10 बातें जानना आपके लिए है बहुत जरूरी

भारत के दोस्त रूस ने जताया दुख

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक संदेश भेजा है उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को शोक संदेश भेजा है।

पड़ेसी देश बांग्लादेश में नहीं शोक

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने पीएम मोदी को पत्र लिख कर कहा है कि – “प्रणब मुखर्जी बांग्लादेश के एक सच्चे दोस्त थे। साल 2013 में बांग्लादेश सरकार ने उन्हें ‘बांग्लादेश मुक्तिजुमो सोमनोना’ (लिबरेशन वॉर ऑनर) प्रदान किया, जो बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम 1971 में उनके बहुमूल्य योगदान के लिए था। ”

इजराइल ने जताया भारत रत्न Pranab Mukherjee के निधन पर संवेदना

इजराइल के राष्ट्रपति रियूवेन रिवलिन ने पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee के निधन पर संवेदना जताते हुए उन्हें इजराइल का सच्चा मित्र बताया है, रिवलिन ने ट्वीट किया, ”इजराइल पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के निधन से दुखी भारत के लोगों और मुखर्जी के परिवार के साथ खड़ा है। मुखर्जी देश और विदेश में एक बहुत सम्मानित राजनेता थे और इजराइल के एक सच्चे दोस्त थे जिन्होंने हमारे देशों और लोगों के बीच गहरे संबंधों को और मजबूत किया।”

बता दें आज जो भारत इजराइल के दोस्ताना संबंध बने है उसके पीछे प्रणब दा की अहम भूमिका थी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अक्टूबर 2015 में इजराइल की यात्रा करने वाले भारत के पहले राष्ट्रपति बने थे और रिवलिन ने 2016 में मुखर्जी के निमंत्रण पर भारत की यात्रा की थी। वहीं इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने 2018 में भारत की यात्रा की थी जिससे दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध रणनीतिक साझेदारी वाले बने थे।

अमेरीका ने भी जताया पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee के निधन पर दुख

अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टर ने भी पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक जताया है, उन्होंने ट्वीट किया है कि समाज सेवा के अपने लंबे करियर में प्रणब मुखर्जी ने भारत-अमेरिका के रिश्ते को मजबूत करने में योगदान दिया।

नेपाल ने जताया शोक

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘उनके निधन से नेपाल ने एक महान दोस्त खो दिया। हम उनके सार्वजनिक जीवन की विभिन्न क्षमताओं में नेपाल-भारत संबंधों को मजबूत करने में उनके योगदान को याद करते हैं।’

श्रीलंका ने कहा पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee थे अद्वितीय

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने ट्वीट करके पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee को निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा वह राजनेता के रूप में उत्कृष्ट थे, एक लेखक और एक व्यक्ति जो सभी से प्यार करते थे। जिस जुनून के साथ उन्होंने अपने देश की सेवा की, वह अद्वितीय है।

भूटान ने भी जताया दुख

भूटान के प्रधानमंत्री लोटाय शेरिंग ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक जताया और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी कि आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।