पीएम मोदी के एक सवाल के जवाब में किसान ने कहा- ‘दुआ है कि आप पूरी जिंदगी प्रधानमंत्री रहें’

किसान ने कहा कि आपको द्वारा चलाई जा रही आवास योजना से हमें इसका का फायदा मिला। उन्होंने कहा कि पहले झोपड़ी में रहते थे, अब मकान बन रहा है, इससे परिवार काफी खुश है।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना जैसी महामारी के बीच शुक्रवार वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान’ की शुरुआत की। इस योजना का मकसद कोरोना काल में शहरों से गांव लौटे मजदूरों को रोजगार देना है। इससे लोगों को रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी। आपको बता दें कि इस अभियान की शुरुआत करने के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

pm Modi

पीएम मोदी ने 6 जनपदों के लोगों से की बातचीत

इस अभियान की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने यूपी के कुछ किसानों व मजदूरों से भी बात की। पीएम मोदी ने इस दौरान 6 जनपदों के लोगों से बातचीत की। पीएम मोदी ने सबसे पहले विनीता से बातचीत की जोकि गोंडा की रहने वाली है। बातचीत में विनीता ने कहा कि प्रशासन से सूचना मिलने के बाद महिलाओं के साथ समूह का गठन किया और एक नर्सरी शुरू की। अब एक साल में 6 लाख रुपये की बचत हो रही है।

PM-Narendra-Modi

बहराइच के तिलकराम से की बातचीत

इसके बाद पीएम मोदी ने बहराइच के तिलकराम से भी बातचीत की, उनका हालचाल जाना। तिलक राम किसान हैं, खेती करते हैं। बातचीत के दौरान पीएम मोदी को तिलकराम के पीछ एक बड़ा मकान दिखाई दिया। जिसको लेकर पीएम मोदी ने किसान से कहा कि आपके पीछे बहुत बड़ा मकान बन रहा है। इस पर किसान ने जवाब देते हुए कहा कि ये आपका ही है। किसान ने कहा कि आपको द्वारा चलाई जा रही आवास योजना से हमें इसका का फायदा मिला। उन्होंने कहा कि पहले झोपड़ी में रहते थे, अब मकान बन रहा है, इससे परिवार काफी खुश है।

पीएम मोदी ने कहा, “मुझे क्या दोगे”

इसके बाद पीएम मोदी ने तिलकराम से कहा कि “आपको मकान मिला है, लेकिन मुझे क्या दोगे?” जवाब में तिलकराम ने कहा कि “हम दुआ करते हैं कि आप पूरी जिंदगी प्रधानमंत्री रहें।” प्रधानमंत्री ने कहा कि आप मेरे लिए एक काम करेंगे। आप अपने बच्चों को अच्छी पढ़ाई कराएं और इसकी जानकारी मुझे देते रहें।

 

योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया

इसके अलावा सिद्धार्थनगर के कोडरा गांव के कुरबान अली ने काम मिलने पर मोदी तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि हम मुंबई में काम करने से पहले गांव में प्राइवेट काम करते थे, अब हमको राजमिस्त्री काम मिला है। हम ट्रेनिंग भी कर रहे हैं, हमको इसका प्रमाणपत्र भी मिला है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “कोरोना संकट में प्रधानमंत्री मोदी ने कामगार और श्रमिकों की जिन योजनाओं को आगे बढ़ाने का मार्गदर्शन दिया था, उससे अब रोजगार को बढ़ावा दिया जा रहा है।”