पीएम मोदी ने कोवैक्सीन लगाकर, वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों की बोलती बंद कर दी 

70

भारत सराका द्वारा 16 जनवरी से देशभर में कोरोना वैक्सीन लगाने का सिलसिला शुरू हो चुका हैं, जिसके बाद से कई ऐसे लोग भी थे जिन्होने कोरोना की वैक्सीन की गुणवत्ता पर सवाल उठाए थे और अब जब प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने खुद भारत में बनी कोवैक्सीन की पहली डोज लगा ली है जिस पर विपक्ष प्रधानमन्त्री और उनकी सरकार को घेर रही थी अब प्रधानमन्त्री के इस कदम ने उन लोगों की बोलती बंद कर दी है।

अखिलेश यादव ने उठाएं थे सवाल 

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने वैक्सीन की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए कहा था कि हम वैक्सीन नहीं लगाएंगे, हमें मोदी सराकार पर भरोसा नहीं हैं, हम जब खुद सत्ता पर आएंगे तो अपनी वैक्सीन बनाकर लगाएंगे, अखिलेश यादव के इस बेतुके बयान ने खूब सुर्खियां बटोरी थी और इस पर लोग अपनी – अपनी प्रतिक्रियाएं भी दे रहे थे वहीं कांग्रेस के कुछ नेताओं का ये मानना था कि बीजेपी इस वैक्सीन का फायदा सबसे पहले बीजेपी उठाएगी जहां आलाकमान और सरकारी लोग इसका हिस्सा रहेंगे। 

वैक्सीन
Aajtak

पीएम ने की बोलती बंद 

आज पीएम मोदी ने खुद कोरोना की वैक्सीन लगाकर इन सवालों पर जुबान से नहीं बल्कि अपने इस कदम से  सवाल उठाने वालों की बोलती बंद कर दी हैं, प्रधानमन्त्री मोदी ने उन लोगों पर निशाना साधा है जिन्होंने कहा था मोदी जी सबसे पहले अपना टीकाकरण कराएंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ प्रधानमन्त्री मोदी ने तभी टीकाकरण कराया जब स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की घोषणा की कि 1 तारीख से साठ साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी और प्रधानमंत्री मोदी अब 70 साल के हो चुके हैं।

वैक्सीन
Twitter