लकड़ी की तस्करी में मदद करने के आरोप में पाकिस्तानी पुलिस ने 6 गधों को किया गिरफ्तार

खबर मज़ेदार है लेकिन सच भी है. पाकिस्तान में 6 गधों के हिरासत में ले लिया गया है. उनपर टिंबर यानी लकड़ी तस्करी का आरोप है. घटना चित्राल की है. गधों का मालिक फरार है. गधों पर आरोप है कि वो टिंबर माफिया की मदद करते थे. उर्दू न्यूज के मुताबिक, खैबर पख्तूनख्वा इलाके के चित्राल जिले के पाकिस्तान पुलिस में छह गधों को टिंबर तस्करी मामले में हिरासत में लिया गया है.

बताया जा रहा है कि गधों की गिरफ्तारी असिस्टेंट कमिश्नर तौसीफुल्लाह के आदेश पर की गई है. असल में घटना 18 अक्तूबर की रात की है. जब वन अधिकारी और जिला प्रशासन ने तस्करों को धरदबोचने के लिए दरोश गोल नामक जगह पर दबिश दी. दबिश की ख़बर लगने पर संदिग्ध तस्कर लकड़हारे तो भाग गए लेकिन अपने पीछे तीन गधों को छोड़ गए. अब इन गधों को और इनके बाकी साथी गधों को लकड़ी की तस्करी को बढ़ावा देने के आरोप में कोर्ट में पेश किया जाएगा.

यानी आरोपी तस्कर भाग गए तो पुलिस ने बेचारे गधों को घर लिया. समां टीवी के अनुसार अभी ये बदकिस्मत गधे पुलिस स्टेशन में हैं. असिस्टेंट कमिश्नर तौसीफुल्लाह ने बताया की उन्होंने वन विभाग को इन गधों को कोर्ट में पेश करने के लिए कहा है.
वैसे पाकिस्तान में ये पहली बार नहीं है जब गधे पर पुलिस ने कार्रवाई की हो. 2020 में भी एक गधे पर पाकिस्तान पुलिस ने जुआ खेलने का आरोप लगा उसे गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में 8 लोगों के खिलाफ नामज़द रिपोर्ट दर्ज की थी जिसमें आरोपी गधे का नाम भी शामिल था.

पुलिस ने जिन गधों को गिरफ्तार किया है वह बहुत स्मार्ट है. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून में छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि, जिन गधों को गिरफ्तार किया गया है वह तस्करी में माहिर है. ये गधे बड़ी होशियार के साथ बिना किसी मदद के एक गांव से दूसरे गांव लकड़ी की तस्करी करते हैं. वैसे गधे होशियार है इस बात का सबूत ये भी है कि पाकिस्तान की जीडीपी में गधों का अहम योगदान है.

चीन पाकिस्तानी गधों का बड़ा खरीददार है. चीन एक पाकिस्तानी गधे के लिए 20 हज़ार रुपये तक खर्च करता है. पाकिस्तान का एक बड़ा वर्ग तकरीबन 80 लाख ग्रामीण परिवार पशुपालन पर निर्भर है. एक रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में गधों की संख्या बड़ रही है. पिछले वित्तीय वर्ष में ये 56 लाख से बढ़कर 57 लाख हो गई थी. आपको बता दें इन पाकिस्तानी गधों की खाल से चीन जिलेटिन निकलता है जिसका इस्तेमाल कई दवाओं में होता है.