जब आप पैसों का दुर्योपयोग अनजाने मे करने लगते हैं !

आजकल अमेरिकन लोग स्टैंडर्ड केबल सर्विस से दूर भागते जा रहे हैं और ऐसे सर्विस की ओर आकर्षित हो गए हैं जो उन्हें एक ही क्लिक मे घर बैठे मिल जाता है जैसे की ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सर्विस. इन ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवा के माध्यमों से आप अपने सभी मनपसंद शो और फिल्में आसानी से देख सकते हैं. अमेरिकियों मे जिन स्ट्रीमिंग सेवाओं का ज्यादा उपयोग किया जा रहा है उसमें नेटफ्लिक्स, हुलू और HBO Max शामिल हैं. हालांकि इसके नुकसान भी काफी हैं तो आइए जानते हैं कैसे.

ऑनलाइन स्ट्रीमिंग
Photo-dainikbhaskar.com

ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाओं का क्रेज

अमेरिकी लोगों में इस समय ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाओं का जबरदस्त क्रेज छाया हुआ है. वह इन सेवाओं के सब्सक्रिप्शन में हर महीने खुल कर खर्च कर रहे हैं. अगर ऑनलाइन स्ट्रीमिंग माध्यमों का उनके पास काफी साधन है तो फिर वह अन्य माध्यमों में वीडियो, सीरियल या फिल्में देखना भूल जाते हैं.

हालांकि यह साधन पैसे के दुर्योपयोग को जमकर बढ़ावा देते हैं. आप हर महीने इसके सब्सक्रिप्शन मे खुलकर पैसे खर्च करते हैं लेकिन जब पैसे का हिसाब लगाते हैं तो इसमें केबल माध्यमों के अपेक्षा काफी पैसा खर्च हो जाता है.

पहली नजर में लगता है कि केबल माध्यम की अपेक्षा ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाएं कम खर्चीली हैं लेकिन जैसे ही सब्सक्राइब किए गए अलग-अलग स्ट्रीमिंग माध्यमों के बिल को देखना शुरु करते हैं तो ऐहसास होता है कि अब तो कुछ नही बचा है और इसमें ही सारे पैसे खर्च हो गए.

गो-बैंकिंग सर्वे

गो-बैंकिंग रेट्स के सर्वे में बताया गया है कि 9 प्रतिशत अमेरिकन का कहना है कि वह केवल स्ट्रीमिंग सेवाओं का उपयोग करते हैं और महीने में एक बार पैसे देते हैं. तो वहीं दूसरी ओर 4 प्रतिशत अमेरिकियों का कहना है कि उन्होंने कभी स्ट्रीमिंग सेवाओं का उपयोग नही किया.

ऑनलाइन स्ट्रीमिंग
Photo-amarujala.com

गो-बैंकिग रेट्स के अनुसार यह लोग प्रत्येक वर्ष औसतन 347.81 यूएस डॉलर यानि की करीब 25000 रुपये इन सेवाओं के सब्सक्रिप्शन में खर्च करते हैं हालांकि फायदा यह लोग पूरी तरह से नही उठा पाते क्योंकि 7 प्रतिशत लोग इन स्ट्रीमिंग सेवाओं का सब्सक्रिप्शन करने के बाद भी उपयोग नही करते हैं. 25-34 साल वाले लोगों में स्ट्रीमिंग माध्यमों में पैसे खर्च करने का यह चलन काफी देखा गया है.

Also Read- Changes in the current era of Box-office & Cinema. How will the lock-down effect the overall Indian Cinema?

इन माध्यमों में पैसा खर्च होने का एक और बड़ा कारण है स्ट्रीमिंग सेवाओं का फ्री-टायल लेना. मनोरंजन के लिए यह लोग हमेशा सप्ताहिक या मासिक फ्री-ट्रायल सब्सक्रिप्शन तो ले लेते हैं लेकिन इसे कैंसिल करना भूल जाते हैं जिसके बाद उनके बैंक से पैसे बिना किसी नोटिस के डेबिट हो जाते हैं.

इन माध्यमों में पैसे खर्च करने से बचने का एक ही तरीका है कि आपको स्पष्ट रुप से पता होना चाहिए कि इन माध्यमों में कितना पैसा खर्च करना है. एक या दो स्ट्रीमिंग सेवाओ को वरीयता के आधार पर सब्सक्राइब करना चाहिए औऱ बेवजह के सब्सक्रिप्शन से बचना चाहिए. इसके अलावा इन माध्यमों में पैसे खर्च करने के लिए कमाई के अन्य स्रोत भी ढ़ूढ़ा जा सकता है.