अगले सप्ताह तक सस्ते हो जाएंगे तेल, एमआरपी में 20 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती

आम आदमी के लिए एक अच्छी खबर आई है जिसमें खाद्य तेल ब्रांडों ने सूरजमुखी, सोयाबीन, सरसों और पाम तेल की अधिकतम खुदरा कीमतों (एमआरपी) को 20 रुपये तक कम करने की घोषणा की है।

कीमतों में कटौती अंतरराष्ट्रीय कीमतों में थोड़ी गिरावट के साथ-साथ घरेलू कीमतों को कम करने के लिए सरकारी हस्तक्षेप का परिणाम है।

इससे लोगों की जेब का भार काफी कम हो गया है, ध्यातब्य है कि भारत अपनी खाद्य तेल आवश्यकताओं का 60 प्रतिशत आयात करता है।

जेमिनी एडिबल्स: जेमिनी एडिबल्स एंड फैट्स के ब्रांडेड सनफ्लावर ऑयल की एमआरपी 20 रुपये घटाकर 200 रुपये कर दी गई है। कंपनी ने हमें बताया कि कीमतों में कमी अस्थायी है। यूक्रेन-रूस युद्ध के कारण तेलों में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई है क्योंकि ये दोनों देश सूरजमुखी के तेल के मुख्य उत्पादक हैं।

कम एमआरपी वाला सूरजमुखी तेल अगले 5-7 दिनों में बाजार में उतरेगा।

मदर डेयरी: कंपनी ने भी यूजर्स को राहत दी है और धारा खाद्य तेल की कीमत में 15 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है, मुख्य रूप से सरसों के तेल, सोयाबीन तेल और सूरजमुखी के तेल के लिए।

इसने बताया कि यह हाल ही में सरकार की पहल और अंतरराष्ट्रीय बाजारों के कम प्रभाव और बेहतर घरेलू सूरजमुखी की फसल सहित सूरजमुखी के तेल की उपलब्धता में आसानी के कारण था।

अदानी विल्मर: खुशखबरी देते हुए अदानी विल्मर ब्रांड ने भी अपना कदम आगे बढ़ाया और बाजार की कीमतों के अनुरूप अपने फॉर्च्यून ब्रांड के तेलों की एमआरपी कम कर दी।

कम हुए एमआरपी पैक अगले हफ्ते से बाजार में उपलब्ध होंगे।

कंपनी ने कहा कि वह सरकार के अनुरोध पर और उपभोक्ताओं को समर्थन देने के लिए खाद्य तेलों की कीमतों में कमी कर रही है।