सोशल मीडिया के नए नियमों के तहत एक पत्रकार को भेजा गया नोटिस, जानिए क्या थी वजह और क्या कार्रवाई हुई पत्रकार के खिलाफ

57

केंद्र सरकार ने हाल ही में सोशल मीडिया पर शिकंजा कंसने के लिए कई नियम बनाए थे जिसमें बहुत से प्रावधान रखे गए थे जैसे अगर सोशल मीडिया में फ़ेक न्यूस फैलती है तो उस platform को मैसेज़ की उत्पत्ति का पता बताना पड़ेगा, वहीं अगर OTT प्लैटफॉर्म पर अश्लील Content दिखाया जाता है, धार्मिक भावनाओं को आहत किया जाता है, तो शिकायत करने और जांच होने के बाद 24 घंटे के भीतर उसे हटाना पड़ेगा अब इसे लेकर पहला मामला सामने आ गया है जहां एक पत्रकार को नोटिस भेजा गया है।

डीएम ने पत्रकार को भेजा नोटिस

दरअसल मणिपुर के पत्रकार Paojel Chaoba एक न्यूस पोर्टल में Discussion का हिस्सा बने थे जिसका विषय पत्रकारों के वर्तमान समय में काम करने को लेकर था जो कि facebook में हो रही थी, इस मामले में मणिपुर के इम्फाल के  जिलाधिकारी  प्रवीण सिंह ने Paojel Chaoba  पत्रकार को नोटिस भेज दिया था।

नोटिस
Schoopwhoop

 

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने नोटिस वापस लेने के लिए लिखा पत्र

नोटिस
Schoopwhoop hindi

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने इस मामले पर तुरंत डीएम पत्र लिखकर नोटिस वापस लेने को कहा वहीं मंत्रालय ये भी कहा कि नोटिस भेजने का अधिकार केवल केंद्र सरकार को है कोई भी ऐसा नहीं कर सकता, जिसके बाद डीएम ने खानसी नीनासी के प्रकाशक को दिया गया नोटिस तुरंत वापस ले लिया। जिस तरीके से नोटिस  पत्रकार को  मिला फिर वापस  ले लिया  गया इससे  तो साफ है कि  नियम को समझने में थोड़ा समय  सकता है वहीं भारत सरकार इसे लेकर और विस्तृत रूप  से जानकारी साझा  करनी चाहिए।