नोबेल-2020: 1993 के बाद किसी अमेरिकी महिला को मिला साहित्य का नोबेल, जानिए उनसे जुड़ी खास बातें

साल 2020 का साहित्य का नोबेल अमेरिकी कवयित्री लुईस ग्लिक को मिला है. स्वीडिश एकेडमी के स्थाई सचिव मैट्स माल्म ने स्टॉकहोम में गुरुवार को साहित्य के नोबेल पुरुस्कार की घोषणा की. ग्लिक को यह पुरस्कार उनकी शानादार काव्य शैली के लिए दिया गया है. नोबेल सम्मान देने वाली संस्था स्वीडिश एकेडमी ने कहा कि ‘ग्लिक की कविताओं में ऐसी आवाज है जिनमें कोई गलती हो ही नही सकती और उनकी कविताओं की सादगी भरी सुंदरता उनके व्यक्तिगत अस्तित्व को भी सार्वलौकिक बनाती है.’

नोबेल पुरस्कार 2020
Photo- sabguru.com

अमेरिका की लुईस ग्लिक को मिला नोबेल

वर्ष 2020 का नोबेल साहित्य पुरस्कार अमेरिका की साहित्यकार लुईस ग्लिक को मिला है. उन्हें एकेडमी ने फोन कर इस बात की जानकारी दी तो वह आश्चर्यचकित हो गईं. ग्लिक का जन्म न्यूयार्क में साल 1943 में हुआ था. वह अमेरिका के मैसेच्युसेट्स शहर में रहती हैं औऱ फिलहाल येल विश्वविद्यालय में अंग्रेजी की प्रोफेसर हैं. नोबेल की शुरुआत साल 1901 में हुई थी और तब से लेकर अब तक 16 महिलाओं को यह सम्मान दिया जा चुका है. लुईस से पहले 1993 में अमेरीकी लेखिका टोनी मरिसन को 1993 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया था

लुईस ग्लिक की कविताओं में स्पष्टवादिता

नोबेल पुरस्कार कमेटी के अध्यक्ष एंड्रेस ऑल्सन ने कविय़ित्री की तारीफ करते हुए कहा कि ‘उनके पास बातों को कहने का स्पष्टवादी और समझौता न करने वाला अंदाज है जो उनकी रचनाओं को बेहतरीन बनाता है.’

लुईस ग्लिक को 1993 में उनकी रचना द वाइल्ड आइरिश के लिए पुलित्जर पुरस्कार से नवाजा गया था. इसके अलावा वालेस स्टीवेंस पुरस्कार और बोलिंजन प्राइज फॉर पोएट्री भी मिल चुका है. ग्लिक 1993 में बेस्ट अमेरिकन पोएट्री की संपादक रही थी. उन्होंने 2003-04 से कांग्रेस की लाइब्रेरी में पोएट लिटरेचर कंसल्टेंट के रुप में काम किया था.

Also read- Nobel Winners To Get $110,000 Extra Raise As Prize Money Increased

बता दें कि यह पुरस्कार पिछले कुछ सालों से विवादों में घिरा रहा है. 2018 में यह पुरस्कार स्वीडिश एकेडमी के यौन शोषण के आरोपों से घिर जाने के कारण टाल दिया गया था. इसके बाद वर्ष 2019 में दो विजेताओं की घोषणा की गई थी जिसमें 2018 का पुरस्कार पोलैंड की ओल्गा तोकरजुक और 2019 पुरस्कार ऑस्ट्रिया के पीटर हैंडके के खाते में गया था.

यह भी पढ़ें-  Forbes india list: उद्योगपति मुकेश अंबानी लगातार 13वें साल भारतीय अमीरों में टॉप पर, जानिए और कौन से नाम हैं इस लिस्ट में