अब अपने नए अवतार में दिखेगी गूगल की मैपिंग सर्विस, यूजर्स को कोरोना से बचाने के लिए गूगल की कोशिश!

गूगल की मैपिंग सर्विस अब एक नए रूप में सामने आने की तैयारी में है। इसका नया वर्जन अब कोविड-19 से संबंधित ट्रांजिट अलर्ट प्रदर्शित करेगा। यहीं नहीं, लोगों को यह भी बताएगा कि बसों या ट्रेनों में भीड़ हो सकती है।

Google maps
Credits India TV News

नया फीचर यूज़र्स के लिए होगा कारगर!

यह नया फीचर यूज़र्स के लिए कारगर साबित हो सकता है क्योंकि अब इससे ये चेक कर सकेंगे कि किसी विशेष समय में ट्रेन या स्टेशन पर कितनी भीड़ कितनी हो सकती है। वहीं एक निश्चित रूट पर बसों की सेवा सीमित समय पर चल रही हैं या नहीं, भी पता किया जा सकेगा।  एप्पल या गूगल-समर्थित एंड्रोईड सॉफ़्टवेयर द्वारा संचालित स्मार्टफ़ोन के लिए मुफ़्त ऐप के अपडेट किए गए संस्करण भी ड्राइवरों को कोविड-19 चेकप्वाइंट्स या उनके मार्गों पर प्रतिबंध के बारे में बताएंगे।

यूजर्स की सुविधा के लिए है ये शुरुआत।

गूगल मैप्स के प्रोडक्ट मैनेजमेंट डायरेक्टर रमेश नागराजन ने एक ब्लॉग पोस्ट करते हुए कहा है कि अगर आप कार या सार्वजनिक परिवहन से बाहर निकलना चाह रहें हैं तो आपको महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कराने के लिए सुविधाओं की शुरुआत करी जा रही है।

कैसे काम करेगा ये फीचर?

बता दें कि जब लोग सार्वजनिक परिवहन द्वारा यात्रा करते वक्त मैप का उपयोग करेंगे, तब गूगल इस बारे में उपलब्ध जानकारी प्रदान करेगा। जानकारी में गूगल बताएगा कि क्या कार्यक्रम सीमित हैं, मास्क पहनना चाहिए, या कितनी भीड़ की उम्मीद है.

नागराजन कहते हैं कि आपकी यात्रा से पहले और उसके दौरान यह जानकारी सभी के लिए महत्वपूर्ण है, उनके लिए भी जिन श्रमिकों को सुरक्षित रूप से काम करने के लिए नेविगेट करने की आवश्यकता है और उन सभी के लिए अधिक महत्वपूर्ण हो जाएगा, क्योंकि दुनिया भर के देश फिर से शुरू हो जाते हैं, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, ब्राजील, ब्रिटेन, कोलंबिया, फ्रांस, भारत, मैक्सिको, नीदरलैंड, स्पेन, थाईलैंड और अमेरिका में ट्रांजिट अलर्ट जारी किए जा रहे हैं, जहां स्थानीय ट्रांजिट एजेंसियों की जानकारी उपलब्ध है।

Google maps
Credits Kalinga TV

नागराजन का मानना है कि मैप्स का उपयोग करने वाले लोग मेडिकल सुविधाओं या कोविड -19 परीक्षण केंद्रों में पात्रता सत्यापित करने के लिए रिमाइंडर दिखाए जाएंगे और दूर होने से बचने के लिए दिशानिर्देश दिए जाएंगे। मेडिकल सुविधाओं की यात्रा करने वालों के लिए अलर्ट इंडोनेशिया, इज़राइल, फिलीपींस, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में इस सप्ताह से शुरू हो जाएगा।

Also read: वॉट्सऐप अपने यूजर्स के लिए लेकर आया है दमदार फीचर्स, जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे

नागराजन ने कहा वे ये अलर्ट दिखा रहे हैं, जहां उन्होंने लोकल, स्टेट और संघीय सरकारों या उनकी वेबसाइटों से आधिकारिक डेटा प्राप्त किया है। वे गूगल मैप्स में उपयोगकर्ताओं के लिए इस सहायक डेटा को और भी अधिक लाने के लिए दुनिया भर की अन्य एजेंसियों के साथ सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं।

Also raed: यूपीआई से हो रही है अरबों की लेनदेन, जानिए ज़रूरी बातें नहीं तो हो सकता है आपका नुक़सान!