नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर मुस्लिम युवक को उसके समुदाय वालों ने पीटा, बाद में पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में किया गिरफ्तार

भिवंडी निवासी साद अशफाक अंसारी को उसके समुदाय के लोगों के एक समूह ने सोशल मीडिया पोस्ट पर कथित रूप से निलंबित भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन करने के लिए पिट दिया है।

पुलिस के अनुसार, नूपुर शर्मा के समर्थन में कथित तौर पर बयान देने के लिए भिवंडी में अंसारी के घर के बाहर भीड़ जमा हो गई और उससे माफी मांगने को कहा। भीड़ ने उसे अपने आवास से बाहर आने के लिए मजबूर किया और फिर कलमा पढ़ाया। भीड़ के सदस्यों ने अंसारी की पिटाई भी की।

इस बीच, पुलिस ने साद के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को भड़काने का मामला दर्ज किया और फराज फजल बहाउद्दीन उर्फ ​​बाबा की शिकायत के आधार पर उसे हिरासत में ले लिया।

इंजीनियरिंग छात्र साद पर भारतीय दंड संहिता की धारा 153A (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बाद में, एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गई है और हमने उस व्यक्ति पर हमला करने वाली भीड़ के खिलाफ कार्रवाई भी शुरू कर दी है।”