खंडवा के ‘ज्योतिषी’ का बड़े ही शातिराना अंदाज में कानपुर से अपहरण, भाजपा नेता गिरफ्तार !

खंडवा के एक ज्योतिष का बड़े ही रोचक ढंग से अपहरण कर लिया गया. खंडवा के रहने वाले ज्योतिष सुशील तिवारी को बदमाशों ने कानपुर देहात बुलाया और फिर उनका अपहरण कर लिया. अपहरणकर्ताओं ने सुशील तिवारी की पत्नी को फोन कर 1 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी. गजब की बात यह है कि अपहरण करने वाला कोई और नही बल्कि कानपुर देहात बीजेपी का पूर्व पदाधिकारी है. पुलिस ने सुशील तिवारी को बरामद कर अपहरण कर्ता और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है.

गिरफ्तार किए गए अपहरणकर्ता

खंडवा के ज्योतिष को कानपुर बुलाकर किया अपहरण

खंडवा के एक ज्योतिष को बड़े ही शातिराना अदांज में कुछ बदमाशों ने अपहरण कर लिया. दरअसल खंडवा के चीरखदान निवासी ज्योतिष सुशील तिवारी पंडिताई करने के साथ ही चीजों को परख कर उसके चमत्कारी होने के बारे में भी बताते हैं. इस दौरान उनकी पहचान दिल्ली के एक छोटे फैक्ट्री मालिक रोहित सिंह से हुई. रोहित मूल रुप से मोतिहारी, बिहार का रहने वाला है. उसकी दोस्ती कानपुर देहात के भाजपा जिलामंत्री सत्यम सिंह चौहान से भी है. दोनों ने ही अपने कुछ अन्य साथियों के साथ मिलकर ज्योतिष के अपहरण की योजना बनाई.

चमत्कारी चीज दिखाऩे के बहाने कानपुर बुलाया

बदमाशों ने ज्योतिष को फोन कर बताया कि उनके पास कथित जादुई बक्सा है, जो उसे 19 जुलाई को मिला है. उसे देखने के लिए आप कानपुर देहात आ जाएं. बार-बार फोन करने पर ज्योतिष सुशील तिवारी और उनका चालक कानपुर देहात पहुंचे, जहां सत्यम और उसके 2 सहयोगी बदमाशों ने उनका अपहरण कर लिया. अपहरण करने के बाद बदमाशों ने ज्योतिष सुशील तिवारी के ही फोन से उनकी पत्नी को फोन कर 1 करोड़ रुपये फिरौती देने को कहा.

जगह बदल कर ज्योतिष के फोने से मांग रहे थे फिरौती

ज्योतिष को अगवा करने के बाद बदमाश गाड़ी से ही जगह बदलते थे और सुशील तिवारी के मोबाइल से पत्नी रानी को फोन लगाते थे. सत्यम सिहं चौहान भाजपा आईटी सेल का प्रभारी रह चुका है इसलिए वह तकनीकी चीजों का जानकर है. इस तकनीक का इस्तेमाल वह मोबाइल फोन और जगह बदलने मे कर रहा था.

ज्योतिष को पीटा भी

अपहरण के बाद सुशील तिवारी को जमकर डराया-धमकाया गया. इतना ही नही उन पर दहशत फैलाने के लिए पुरी तरह पीटा गया. खबर के अनुसार मीडिया के सामने लाये जाने के वक्त उनके हाथ और पीठ पर गहरी चोट थी. डंडो से पिटाई के काऱण ज्योतिष की पूरी पीठ काली पड़ गई थी.

ऐसे पकड़ में आए बदमाश

ज्योतिष की पत्नी रानी ने घटना की जानकारी मध्यप्रदेश पुलिस को दी इसके बाद मध्यप्रदेश पुलिस तुरंत हरकत मे आते हुए कानपुर देहात पुलिस से संपर्क किया. पुलिस ने जब उस फोन को सर्विलांस के जरिए ट्रैक किया जिससे फिरौती मांगी गई थी तो उसका लोकेशन कानपुर के रनिया इलाके में निकली. इसके बाद पुलिस ने उस मकान पर छापा मार कर ज्योतिष को बरामद कर लिया जहां वह छिपे हुए थे. पुलिस ने अपहरणकर्तओं को भी गिरफ्तार कर लिया है.

भाजपा से निकाल दिया गया था अपहरणकर्ता सत्यम सिंह चौहान

इस वारदात की हैरान कर देने वाली बात यह थी कि भाजपा के पूर्व जिला मंत्री ने ही ज्योतिष का अपहरण किया था. कानपुर देहात के भाजपा अध्यक्ष अविनाश चौहान ने बताया कि सत्यम चौहान को पार्टी से निकाल दिया गया है और अब भाजपा से उसका कोई संबंध नही है.