महबूबा मुफ्ती के तिरंगे को लेकर दिए गए बयान पर देशभर में मचा बवाल, पीडीपी के ही 3 नेताओं ने दिया इस्तीफा

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने को लेकर पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के हालिया बयान पर जम्मू-कश्मीर सहित पूरे देश मे हंगामा मचा हुआ है. उनके द्वारा तिरंगे को लेकर अपमानजनक टिप्पणी करने के बाद महबूबा मुफ्ती से नाराज उनकी ही पार्टी के 3 नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. उधर महबूबा मुफ्ती के बयान पर बीजेपी भी आक्रामक है. बयान के विरोध में बीजेपी श्रीनगर से कुपवाड़ा तक तिरंगा यात्रा निकाल रही है. इस दौरान लाल चौक पर तिरंगा फहराने जा रहे बीजेपी के 4 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. हालांकि बाद मे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पीडीपी के दफ्तर जाकर वहां तिरंगा झंडा फहरा दिया.

महबूबा मुफ्ती
Photo-hindi.oneindia.com

पीडीपी से नाराज 3 नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती का तिरंगे को लेकर दिया गया बयान भारी पड़ गया है. महबूबा मुफ्ती से नाराज पार्टी के ही तीन नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है. जिन नेताओं ने इस्तीफा दिया है उनमें टी एस बाजवा, वेद महाजन औऱ हुसैन ए वफा शामिल हैं. इन नेताओं ने महबूबा मुफ्ती को पत्र लिख कर उनके बयान पर नाराजगी जताई है.

देशभर में विरोध प्रदर्शन

यही नही उनके बयान के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. बीजेपी ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है. शिवसेना ने कहा है कि महबूबा मुफ्ती और फारुख अब्दुला को पाकिस्तान भेज देना चाहिए. गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री को अगर भारत और उसके कानून पसंद नही हैं तो उन्हें सपरिवार पाकिस्तान चले जाना चाहिए. उन्होनें कहा कि महबूबा पिछले दो दिनों से अनर्गल बयान दे रही हैं. उन्हें हवाई टिकट खरीदना चाहिए और अपने परिवार के साथ कराची चले जाना चाहिए.

Also read-  Single male government workers can take child care leave: Read to know more

क्या कहा था महबूबा मुफ्ती ने

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटने के बाद महबूबा मुफ्ती को नजरबंद कर दिया गया था. 14 महीने बाद रिहा हुईं पीडीपी नेता ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जम्मू-कश्मीर के झंडे की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि जब तक यह फिर से नही आ जाता तिरंगा झंडा नहीं उठाऊंगी. उनके इस बयान के बाद जम्मू-कश्मीर कांग्रेस समिति ने महबूबा के बयान की निंदा की थी साथ ही कहा था कि उनका बयान बर्दाश्त योग्य नही है.

यह भी पढ़ें- कोयला घोटाला – केंद्रीय मंत्री रहे दिलीप रे को 3 साल की सजा