लिज़ ट्रस ने 45 दिनों बाद यूके के प्रधानमंत्री पद से दिया इस्तीफा दिया, अब उनके उत्तराधिकारी के लिए सभी की निगाहें ऋषि सनक पर

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया। ट्रस ने छह हफ्ते पहले छह सितंबर को ही पद संभाला था। इसी के साथ लिज ट्रस ब्रिटेन के इतिहास में सबसे कम समय तक प्रधानमंत्री पद पर रहने वाली नेता बन गईं। ट्रस से पहले टोरी पार्टी के जॉर्ज कैनिंग 1827 में 119 दिन तक प्रधानमंत्री पद पर रहे थे। पद संभालने के 119 दिन बाद कैनिंग का निधन हो गया था।

लिज ट्रस के इस्तीफे के बाद नए नेता को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं। अगले शुक्रवार तक नए नेता का चुनाव हो जाएगा। एक बार फिर भारतीय मूल के ऋषि सुनक, सुएला ब्रेवरमैन और पैनी मॉरडेंट सबसे बड़े दावेदार बताए जा रहे हैं। पिछली बार प्रधानमंत्री पद की दावेदारी पेश करने वाले वित्त मंत्री जेरमी हंट ने खुद को इस रेस से अलग कर लिया है। अटकलें हैं कि पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी दावेदारी पेश कर सकते हैं।

लिज ट्रस जब प्रधानमंत्री बनीं थी तब उन्होंने बड़े स्तर पर कर कटौती की बात की थी। पद ग्रहण करने के बाद जब उन्होंने इसे लागू करने की कोशिश की तो उसका नतीजा बहुत बुरा हुआ। ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था फ्री फॉल में चली गई। ब्रिटेन की मुद्रा पाउंड का अभी अवमूल्यन होने लगा।
इससे उबरने के लिए उन्होंने अपने वित्त मंत्री का इस्तीफा लिया। इसके बाद भी बाजार में विश्वास नहीं लौटा। विदेशी निवेशकों का भी कहना था कि ट्रस की नीतियां बाजार को विश्वास दिलाने में नाकाम रही हैं। ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था का हाल पिछले कुछ समय से बुरा रहा है। सुनक के खिलाफ ट्रस भले जीत गई थीं, लेकिन उनके नेतृत्व में उनकी ही पार्टी के लोगों तक को विश्वास नहीं था।

उनकी छवि भी प्रभावशाली नेता की नहीं रही है। हालांकि, कंजरवेटिव पार्टी का एक तबका है जो कई कारणों से उनका समर्थन करते हैं। इसके बाद भी वो कभी भी एक प्रभावशाली नेता के रूप में पहचान नहीं बना सकीं हैं। जब वो विदेश मंत्री थी तब भी कई बार उन्होंने ऐसी बातें कह दीं जिससे उनकी विषय (विदेश नीति) को लेकर कम समझ सामने आई। कुल मिलाकर उनके नेतृत्व में बहुत कम लोगों का विश्वास था।