केरल सचिवालय में लगी आग को लेकर विपक्ष का बड़ा आरोप, कहा गोल्ड तस्करी के सबूत..

केरल सचिवालय में लगी आग ने राजनीतिक रंग ले लिया है. विपक्षी कांग्रेस औऱ भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि गोल्ड स्मगलिंग केस के सबूत मिटाने के लिए आग जानबूझ कर लगाई गई है. सभी विपक्षी पार्टियों के विधायक इसी बात को लेकर धरने पर बैठ गए हैं. उधर केरल सचिवालय के अधिकारियों ने कहा है कि आग पर काबू पा लिया गया है और सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज सुरक्षित हैं.

Photo-indianexpress.com

केरल सचिवालय मे लगी आग

केरल सचिवालय के उत्तरी ब्लॉक में स्थित प्रोटोकॉल विभाग में मंगलवार शाम को आग लगी गई. हालांकि आग पर काबू पा लिया गया है लेकिन इस बात को लेकर विपक्षी कांग्रेस और भाजपा ने पिनरई विजयन सरकार को कटघरे मे खड़ा कर दिया है. विपक्ष ने आरोप लगाया है कि यह आग लगी नही बल्कि लगाई गई है और यह पूरी कोशिश गोल्ड स्मलिंग से संबंधित केस के सबूत को मिटाने की साजिश है.

Also Read- Google Chrome browsers gets cool features: Check Out

बता दें कि केरल में पिछले कुछ दिनों में कस्टम विभाग ने सोने की बड़ी खेप पकड़ी है. यह सोना अरब देशों से स्मगलिंग के जरिए भारत मे लाए जा रहे थे.

यह भी पढ़ें- जानिए क्या है? स्वप्ना सुरेश और 30 किलो सोने का कनेक्शन जिसने पिनराई सरकार की नींदें उड़ा दी है !

प्रदर्शन कर रहे विपक्षी नेताओं को हिरासत में लिया गया

केरल सचिवालय में लगी आग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे भाजपा केरल अध्यक्ष के. सुरेन्द्रन को हिरासत में लिया गया है. इसके अलावा कोझीकोड में प्रदर्शन कर रहे यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर भी पुलिस ने लाठियां भांजी हैं. विपक्षी नेताओं का आरोप है कि राज्य सरकार सोने की तस्करी की जांच को भटकाने के लिए इस घटना को जानबूझ कर अंजाम दिया है.

कंम्यूटर मे शार्ट सर्किट से लगी आग

केरल सचिवालय रखरखाव प्रकोष्ठ के अतिरिक्त सचिव पी. हनी ने कंम्यूटर में शार्ट सर्किट होने से आग लगने का अंदेशा जताया है. अधिकारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कोई भी महत्वपूर्ण फाइल नष्ट नही हुई है.