कमलनाथ के इमरती देवी को ‘आइटम’ बताए जाने के बाद मध्यप्रदेश में मचा सियासी घमासान, नाराज शिवराज मौनव्रत पर तो वहीं मायावती..

मध्यप्रदेश में 28 सीटों के लिए होने जा रहे उपचुनावों के मद्देनजर सियासी सरगर्मियां बढ़ने लगी हैं. इस चुनावी माहौल में नेता मर्यादाओं को भी लांघने से नही चूक रहे हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी इमरती देवी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी कर दी है. उन्होंने एक चुनाव प्रचार के दौरान इमरती देवी को आइटम कह दिया है. जिसको लेकर अब सियासी घमासान मचा हुआ है. कमलनाथ के विरोध में शिवराज सिंह चौहान मौन धरने पर बैठ गए हैं तो वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस से माफी मांगने को कहा है.

कमलनाथ
Photo-twitter

कमलनाथ ने इमरती देवी को कहा आइटम

मध्यप्रदेश में होने जा रहे उपचुनाव से पहले बयानबाजियों का दौर शुरु हो गया है. सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ग्वालियर जिले की डबरा विधानसभा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी को आइटम बता दिया. जिसके बाद भाजपा ने कमलनाथ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. भाजपा के कई नेता अलग-अलग जगहों पर मौन प्रदर्शन कर रहे हैं. शिवराज सिंह चौहान के अलावा ज्योतिरादित्य सिधिंया भी इंदौर में धरने पर बैठ गए हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि इस तरह के बयानों को बिलकुल बर्दाश्त नही किया जाएगा. देश मे मां, बहन और बेटियों का सम्मान रखा जाएगा, हम महिलाओं का अपमान स्वीकार नही करेंगे. उधर इमरती देवी का कहना है कि इन लोगों को मध्यप्रदेश में रहने का कोई हक नही है. कमलनाथ ने मध्यप्रदेश की सभी लक्ष्मियों को गाली दी है. उन्होंने कहा मैं सोनिया गांधी से मांग करती हूं कि वह कमलनाथ को कांग्रेस से बाहर निकालें.

मायावती ने की निंदा

बसपा नेता मायावती ने भी कमलनाथ के इस तरह की बयान की निंदा की है. उन्होंने कहा- मध्यप्रदेश में ग्वालियर की डबरा रिजर्व सीट पर उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई  अभद्र टिप्पणी घोर निंदनीय और शर्मनाक है. कांग्रेस को इस पर सार्वजनिक माफी मांगनी चाहिए.

Also read-  ‘Ghar Tak Fibre’ Scheme Slows Down In Bihar: Read Report

उधर इमरती देवी पर दिए गए बयान के बाद कमलनाथ भी बैकफुट पर आ गए हैं. उन्होंने सफाई देते हुए कहा- शिवराज जी आप कह रहे हैं कमलनाथ ने आइटम कहा. हां मैने आइटम कहा है क्योंकि यह कोई असम्मानजनक शब्द नही है. मैं भी आइटम हूं आप भी आइटम हैं और इस अर्थ में हम सभी आइटम हैं. सामने आइए और मुकाबला कीजिए. सहानुभूति और दया बटोरने की कोशिश वही लोग करते हैं जिन्होंने जनता को धोखा दिया हो.