कांग्रेस के बागियों के कार्यक्रम से आई आलाकमान की टेंशन बढ़ाने वाली खबर, मंच से सोनिया, राहुल के पोस्टर नदारद

26

पिछले साल कांग्रेस के कई नेताओं ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल खड़े करते हुए पार्टी आलकमान को चिट्ठी लिखी थी। इसमे पार्टी के भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की गई थी। हालांकि पार्टी के इन बागियों को विरोध का भी सामना करना पड़ा। फिलहाल 27 फरवरी को फिर कुछ ऐसा हुआ जिससे अब पार्टी आलाकमान की टेंशन बढ़ सकती है। बता दें कि राज्यसभा का कार्यकाल खत्म होने के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद रहे गुलाम नबी आजाद तीन दिन के लिए जम्मू-कश्मीर दौरे पर पहुंचे हैं।

Sonia Gandhi Rahul Gandhi

वहीं इसके दूसरे दिन गुलाम नबी आजाद समेत G-23 में शामिल कांग्रेस के बड़े बागी नेता गांधी ग्लोबल फैमिली के कार्यक्रम में एक साथ एक मंच पर देखे गए। इसी कार्यक्रम में जो हुआ वो सोनिया और राहुल गांधी के लिए अच्छे संकेत नहीं है। बता दें कि इस कार्यक्रम में कांग्रेस के बागी नेताओं के पोस्टर तो दिखे लेकिन इन्ही पोस्टरों पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी की फोटो नदारद रही। इतना ही नहीं बागी नेताओं के अलावा कांग्रेस के और किसी नेता की फोटो मंच पर नहीं दिखाई दी। यह संकेत पार्टी के लिए अच्छा नहीं माना जा रहा है।

कहा जा रहा है कि बागी नेता पहले से ही अपनी चिट्ठी को लेकर अलाकमान की नाराजगी झेल रहे हैं, अब इस कार्यक्रम को लेकर पार्टी उनपर बारीक नजर रख रही है। कांग्रेस में नेतृत्व के चुनाव को लेकर अपने बागी तेवर दिखा चुके पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, मनीष तिवारी, राज बब्बर और विवेक तन्खा समेत कई बड़े नेता शनिवार को जम्मू में एक साथ मंच पर जुटे थे।

दरअसल जम्मू में गांधी ग्लोबल फैमिली के शांति पाठ के मौके पर, इसके अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद ने बाकी बागी नेताओं के साथ मंच को शेयर किया।