जगदीप धनखड़ होंगे देश के 14वें उपराष्ट्रपति

आज शनिवार 6 अगस्त को हुए उपराष्ट्रपति पद के चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ ने विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को हरा बड़े मार्जन ने हरा दिया। इस चुनाव में कुल 725 सदस्यों ने मतदान किया। जिनमें से धनखड़ को 528 मत मिले, जबकि विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को केवल 182 मत मिले। जबकि 15 मत अमान्य कर दिए गए। धनखड़ इस महीने की 11 अगस्त को उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे।

गौरतलब है कि उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। अब धनगड़ उनकी जगह लेंगे। चुनाव परिणाम आने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से भेंट कर जीत की बधाई दी। धनखड़ राजस्थान से भैरोंसिंह शेखावत के बाद दूसरे शख्स हैं, जो देश के उपराष्ट्रपति बने हैं।

मार्गरेट अल्वा ने भी धनखड़ को जीत पर बधाई दी। साथ ही ट्वीट कर कई विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- दुर्भाग्य से, कुछ विपक्षी दलों ने एकजुट विपक्ष को पटरी से उतारने की कोशिश में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर भाजपा का समर्थन किया। उन्होंने अपनी विश्वसनीयता को नुकसान पहुंचाया है।

चुनाव के रिटर्निंग अफसर उत्पल सिंह ने बताया कि कुल 780 वोटर्स में से 725 (92.94%) ने वोट किया। जीत के लिए 356 वोटों की जरूरत थी। कुल वैलिड वोट में से धनखड़ को 74.36% वोट मिले। 1997 के बाद से हुए पिछले 6 उपराष्ट्रपति चुनावों में उन्होंने सबसे अधिक अंतर से जीत हासिल की है।

पिछले उपराष्ट्रपति चुनाव में एम वेंकैया नायडू को करीब 68% वोट मिले थे। धनखड़ ने इस चुनाव में वेंकैया नायडू को पीछे छोड़ दिया है। शनिवार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक चुनाव में 55 सांसदों ने वोट नहीं डाला।