भारतीय सेना में आज शामिल होगें महारथी राफेल, फ्रांस के रक्षामंत्री भी कार्यक्रम में रहेंगी मौजूद !

भारतीय वायुसेना मे आज महारथी राफेल विधिवत रुप से शामिल होगें. अंबाला वायुसैनिक अड्डे पर इस अवसर पर फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली भी मौजूद रहेंगी. यह विमान वायु सेना के 17वें स्क्वाड्रन ‘’गोल्डन एरो’’ का हिस्सा होगें.  बता दें कि भारत ने फ्रांस के साथ 36 लड़ाकू विमान खरीदने के लिए समझौता किया है जिसकी पहली खेप में 5 राफेल विमान 27 जुलाई को अंबाला के वायुसैनिक अड्डे पर पहुंचे थे.

राफेल लड़ाकू विमान
Photo-ANI

भारतीय वायुसेना की ताकत में आज चार चांद लग जायेंगे. हरियाणा के अंबाला एयरफोर्स छावनी पर 5 राफेल विमान वायुसेना में विधिवत रुप से शामिल किए जायेंगे. इस अवसर पर CDS विपिन रावत, वायुसेना प्रमुख एय़र चीफ मार्शल आर केएस भदौरिया, रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार, DRDO के अध्यक्ष डॉ. जी सतीश रेड्डी के साथ रक्षा मंत्रालय औऱ सशस्त्र बलों के कई वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहेगें.

उधर फ्रांसिसी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ली करेंगी. उनके अलावा भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन, वायुसेना प्रमुख एरिक आटेलेट, दसाल्ट एविएशन के अध्यक्ष औऱ मुख्य कार्यकारी अधिकारी एरिक ट्रैपीयर समेत फ्रांसीसी रक्षा उद्योग के कई अधिकारी इस आयोजन में मौजूद रहेंगे.

2021 तक भारत को मिल जायेगें सभी 36 विमान

भारत और फ्रांस के बीच 36 लड़ाकू विमानों को खरीदने के लिए 2016 में समझौता हुआ था. यह करार 59000 करोड़ रुपये का था. भारत को मिलने वाले विमानों की पहली खेप 27 जुलाई को अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पंहची थी. जिसमें 5 विमान शामिल हैं. अभी तक भारत को 10 राफेल विमानों की आपूर्ति की जा चुकी है. जिनमें से 5 अभी फ्रांस में ही है और इन पर भारतीय सेना के पायलट प्रशिक्षण ले रहे हैं. इसके नवंबर तक भारत पहुंचने की उम्मीद है. सभी 36 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति 2021 के अंत तक होने बात की जा रही है.

Also read- Defence Minister Rajnath Singh to induct Rafale jet on September 10 officially

राफेल की खासियत

राफेल विमान अत्याधुनिक हथियारों और उन्नत टेक्नालॉजी से लैस है. यह दो इंजनों वाला लड़ाकू विमान है औऱ एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है. राफेल लड़ाकू विमानों की 3700 किलोमीटर तक मारक क्षमता है इसके अलावा यह 24500 किलोग्राम वजन भी ले जाने में सक्षम है. अंबाला स्टेशन पर एयरफोर्स में शामिल होने के अवसर पर राफेल विमान हवाई करतब भी दिखाएंगे. जिसमें तेजस विमान के साथ सारंग एय़रोबेटिक टीम भी शामिल होगी.