One Nation One Ration Card योजना है कितनी लाभदायक ? जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा की थी। इस घोषणा में वित्त मंत्री ने ‘एक देश, एक राशन कार्ड’ योजना का भी ऐलान किया था। जिसे सांभावित रूप से मार्च 2021 तक शत-प्रतिशत लागू होना है। जिसके बाद देश में कहीं भी पीडीएस (PDS) केंद्र से राशन लेना संभव होगा। इस योजना के लागू होने के बाद लाभार्थी देश के किसी भी कोने से अपने हिस्से का राशन ले सकेंगे।

योजना की सबसे जरूरी बात यह है कि कामकाज के सिलसिले में एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वाले प्रवासियों को भी नए शहर में राशन कार्ड बनवाने नहीं पड़ेंगे बल्कि वे पुराने राशन कार्ड पर ही सरकारी फायदा उठा सकते हैं।

शुक्रवार को हुई बैठक में, खाद्य मंत्रालय एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड (One Nation One Ration Card) पहल के  की अवधि को मार्च 2021 से आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा है.

हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त को लाल किले से अपने भाषण मे इस याजना का जिक्र किया था। अभी 24 राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में इस योजना को एक अगस्त 2020 से लागू किया गया है जिसमें लगभग 65 करोड़ लाभार्थी शामिल हैं जो एनएफएसए आबादी का लगभग 80 फीसद हिस्सा है।