मध्यप्रदेश के रायसेन में बेटे की मौत से कुछ घंटे पहले पिता मिला को संदेश,”गुस्ताख-ए-नबी की एक सजा, सर तन से जुदा”

सोमवार को मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के कॉलेज के तृतीय वर्ष के छात्र निशंक राठौर ओबैदुल्लागंज शहर के पास रेल लाइन पर मृत पाए गया।

“गुस्ताख-ए-नबी की एक सज़ा, सर तन से जुदा,” यह वह संदेश था जो उसके पिता को बेटे के निधन से पहले मिला था।

यह संदेश रविवार को 5:44 बजे निशंक राठौर के पिता उमा शंकर राठौर को भेजा गया। संदेश मिलने के बाद, उमा शंकर ने अपने 20 वर्षीय बेटे निशांत राठौर को खोजने का प्रयास किया, जो भोपाल, मध्य प्रदेश में ओरिएंटल कॉलेज के तीसरे वर्ष का छात्र था।

हालाँकि, निशंक अपने छात्रावास के कमरे में नहीं मिला , और बाद में उसकी लाश मध्य प्रदेश के रायसेन क्षेत्र के ओबैदुल्लागंज में पटरियों पर मिली।

आईजी सूरी ने इंडिया टुडे टीवी को दिए एक बयान में कहा, “हमने सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से उसकी गतिविधियों का पता लगाया है, ठीक उसी समय से जब वह भोपाल में अपने कमरे से निकला था। शाम 5.09 बजे उसे एक पेट्रोल पंप पर देखा गया और उनके साथ कोई नहीं था। पोस्टमॉर्टम से पता चला है कि चलती ट्रेन के आगे आने के कारण उसकी मौत हुई है।”