गुजरात को सूरत में मिला अपना पहला बहु-स्तरीय रेलवे-ओवर-ब्रिज और फ्लाईओवर

गुजरात के सूरत में रविवार को पहले बहु-स्तरीय रेलवे-ओवर-ब्रिज और फ्लाईओवर का उद्घाटन किया गया। यह परियोजना 133.50 करोड़ रुपये की लागत से पूरी हुई है।

सूरत नगर निगम (एसएमसी) ने शहर के रिंग रोड पर सहारा दरवाजा पर यातायात को कम करने के लिए इस तीन-स्तरीय पुल को डिजाइन किया, जहां कपड़ा बाजार स्थित हैं। यह पुल सूरत रेलवे स्टेशन के चारो तरफ और शहर के पूर्व और पश्चिम खंडों को जोड़ने वाली प्राथमिक कड़ी के रूप में काम करेगा।

एसएमसी ब्रिज सेल के कार्यकारी अभियंता अमित देसाई के अनुसार, तीन पुलों की संयुक्त लंबाई 2643.075 मीटर है।

5.2 मीटर चौड़ा और 410.535 मीटर लंबा सिंगल लेन ब्रिज सूरत रेल वे स्टेशन और सहारा दरवाजा को जोड़ता है, जो धरती से 15 मीटर ऊपर है और सबसे निचले स्तर पर स्थित है। यह पुल 563.120 मीटर लंबा है और जमीन से 8.75 मीटर ऊँचा है एकदम केंद्र में है और रिंग रोड से सहारा दरवाजा तक जाता है। 523.3 मीटर लंबा और एक लेन चौड़ा पुल सहारा दरवाजा को दूसरी दिशा में रिंग रोड से जोड़ता है।

सहारा दरवाजा और कडोदरा को जोड़ने वाला यह दो लेन का पुल सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित है।

कार्यकारी अभियंता अमित देसाई ने कहा.”इसके निर्माण में कुल 14,257 मीट्रिक टन सीमेंट और 3860 मीट्रिक टन रेफोर्सड स्टील का उपयोग किया गया है। इस पुल के निर्माण के लिए 747 पाइल फाउंडेशन, 121 पियर, 232 पीएससी (प्री-स्ट्रेस्ड कंक्रीट गर्डर्स) और 30 प्लेट गर्डर्स का इस्तेमाल किया गया है।

यह फ्लाईओवर सहारा दरवाजा पर यातायात को आसान बनाने में मदद करेगा। यह वह जगह है जहां कपड़ा बाजार स्थित है।

सूरत नगर निगम नगर अभियंता एएम दुबे ने कहा,“यह बहुमंजिला पुल सूरत रेलवे स्टेशन के पश्चिम की ओर पूर्व की ओर के लोगों के लिए एक बड़ी संपत्ति होगी। इससे लोगों को होने वाली ट्रैफिक समस्या से भी निजात मिलेगी। यह मल्टीलेयर ब्रिज गुजरात में पहला है और यह सूरत के लोगों को बेहतर कनेक्टिविटी देगा।