कोरोना से हुई भाई की मौत तो भड़के बीजेपी नेता की भाषा सुनिए, डीएम के पैरों में मृतक की बेटी

पूरे देश में कोरोना का कहर देखने को मिला रहा है. स्थिति ये है कि देश में कोरोना के मामले बीस लाख से अधिक हो चुके हैं. कोरोना की चपेट में सरकार के कई मंत्री और मुख्यमंत्री आ चुके हैं. वहीँ अब बीजेपी नेताओं का गुस्सा भी सरकार और सिस्टम के खिलाफ निकल कर सामने आ रहे हैं. दरअसल पूरा मामला उत्तर प्रदेश का है.

उत्तर प्रदेश में भी कोरोना कहर देखने को मिल रहा है. उत्तर प्रदेश के कानपुर की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है , जिसमें हम देख सकते हैं कि एक बेटी कानपुर के डीएम के पैर में छुकी हुई है, इस बच्ची के पिता की मौत कोरोना के कारण हो गयी थी. जिसके बाद लापरवाही की पूरी कहानी निकल सामने आई है.

भाई की मौत पर भड़क उठे बीजेपी नेता 

मृतक की बेटी अलका दुबे का आरोप है कि कांशीराम ट्रामा कोरोना हॉस्पिटल में उनके पिता के इलाज में घोर लापरवाही की गई है. जिसकी वजह से उनकी हालत बिगड़ी और फिर वक्त पर वेंटिलेटर नहीं मिलने से उनकी मौत हो गई. इस बेटी के पिता राजीव दुबे जल संस्थान में इंजीनियर थे. पहले उनके जीएम को कोरोना हुआ फिर उनसे कई कर्मचारियों को. उन्हीं में एक उनके पिता थे. हालाँकि जीएमसाहब को अच्छी सुविधा मिली और वे ठीक हो गये लेकिन उनके पिता को उचित सुविधा नही मिल जिसकी वजह से उनकी जान चली गयी.

वहीँ डीएम साहब का कहना है कि इलाज में किसी तरह की लापरवाही नही बरती गयी है लेकिन मृतक के भाई और बीजेपी नेता सनाज्य द्विवेदी भाई की मौत के बाद आपा खो बैठे और अपनी ही पार्टी की सरकार कोसने लगे. दरअसल संजय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें वे काफी आक्रोशित दिखाई दे रहे हैं और कहते नजर आ रहे हैं कि अगर वे बीजेपी में पद पर रहते हुए और बड़े नेताओं से पहचाने रखने के बावजूद भी अपने भाई को नही बचा पाए तो उन्हें ऐसी पार्टी की जरूरत नही है.

देखिये वीडियो 

इतना ही नही वे तो ये भी कहते नजर आ रहे हैं कि जिसके पास सोर्स यानि कि पकड़ या पहचान है उनका इलाज बढ़िया से हो रहा है लेकिन जिनका कोई सोर्स नही है उनकी सुनने वाला कोई नही है. आपको बता दें कि संजय द्विवेदी ने मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री मंत्री सबका नाम लेते हुए दिखाई दे रहे हैं. वीडियो में कई जगह वे आक्रोश में अपशब्द का प्रयोग करते भी नजर आ रहे हैं.

कहीं न कहीं ये वीडियो उत्तर प्रदेश के कोरोना सिस्टम की पोल खोलता नजर आ रहा है. कानपुर में बीते 1 दिन में 15 मरीजों की मौत हो गई. वहीँ यूपी में बीते 24 घंटे में कोरोना के 4 हजार 600 से ज्यादा मामले बढ़े हैं. अबतक 2028 मरीजों की मौत हो गई है. यूपी में कानपुर, लखनऊ, नोएडा और आगरा सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. ऐसे में लोगों को मास्क और दो गज की दूरी का ध्यान रखना बेहद जरूरी है.