कृषि विधेयक के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री Prakash Singh Badal के घर के सामने प्रदर्शन कर रहे किसान ने खाया जहर, हालत गंभीर

मानसून सत्र में सरकार द्वारा लाए गए कृषि विधेयक के खिलाफ पंजाब के किसानों में रोष बढ़ता जा रहा है। किसान पूर्व मुख्यमंत्री Prakash Singh Badal की कोठी के सामने धरने में बैठे हुए हैं इसी दौरान एक किसान ने जहर खा कर आत्महत्या का प्रयास किया, किसान की हालत गंभीर बनी हुई है। किसान की पहचान प्रीतम सिंह (55) निवासी गांव अक्कांवली जिला मानसा के तौर पर हुई है। अब अगर इस किसान की मृत्यु हो जाती है तो पंजाब में पहले से ही खड़े राजनीतिक विवाद में और बवाल मच जाएगा।

Prakash Singh Badal

पूर्व मुख्यमंत्री Prakash Singh Badal के घर बादल गाँव में किसान पिछले छह दिनों से बिल के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसे लोकसभा में नरेंद्र मोदी सरकार ने बदल दिया था और बहुमत से पारित किया था। केंद्र सरकार के कृषि विधेयक के विरोध में पंजाब के किसान धरने पर बैठे हैं। प्रदेश भर में जगह-जगह किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। अब उन्होंने रेल रोको आंदोलन की घोषणा भी कर दी है।

Also Read – Harsimrat Kaur Badal का इस्‍तीफा राष्ट्रपति ने किया मंजूर, इनको मिला मंत्रालय का एक्‍स्‍ट्रा चार्ज

किसान संगठनों ने पहले ही 25 सितंबर को राज्य में बंद बुलाया है। कृषि विधेयकों के विरोध में इस समय पंजाब की राजनीति काफी गरमाई हुई है। इसको लेकर कल ही हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकर भी कर लिया है। हरसिमरत कौर बादल ने यह कहते हुए इस्तीफा दिया था कि वह और उनकी पार्टी किसी भी किसान विरोधी फैसले में सहयोगी नहीं बन सकते।