कोरोना से बचाव का उपकरण ही बना सेहत के लिए हानिकारक

कोरोना वायरस पूरी दुनिया में बढ़ता ही जारहा है। इसकी वैक्सीन बनने में अभी बहुत वक्त। इस वायरस से बचाव के लिए की सावधानी बरतनी पड़ती है। कई लोग कोरोना से बचाव के लिए अपने चेहरे पर फेस शिल्ड का इस्तेमाल करते हैं लेकिन ज्यादा देर तक इसके इस्तेमाल से हो सकती है आँखों संबंधित परेशानी।

फेस शिल्ड
Photo – Social Media 

कैसे हो सकता है हानिकारक

दिल्ली में कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जहाँ 12 घंटों या उससे ज्यादा देर तक लोग लगातार फेस शिल्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिसके चलते उन्हें देखने में धुंधलेपन का सामना करना पड़ रहा है।जो स्वास्थ्य कर्मचारी इसका प्रयोग कर रहे हैं उनकी आंखों में सूखेपन के भी शिकायत हो रही है। कई केसेज में तो आंखों में सूखेपन के साथ खुजली के भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं।

फेस शिल्ड
Photo – Navbharat Times

Also Read – आतंक के खिलाफ फ्रांस के कड़े रुख को भारत का पूर्ण समर्थन

कितना कारगर है फेस शिल्ड

विशेषज्ञों ने दावा किया है कि फील्ड पहनना भी कोरोना से बचने के लिए उतना सरदार नहीं है। विशेषज्ञों का मानना है कि जब व्यक्ति शिल्ड पहनता है तो उसके मुंह और शिल्ड में काफी दूरी होती है जिसके चलते कोरोनावायरस आसानी से नाक और मुंह में जा सकता है। इसलिए वे आगाह करते हैं कि मांस हमेशा पहन कर रखी जाए अपने फेस की पहनी हो या नहीं।