फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में कोर्ट पर घुसी पर्यावरण कार्यकर्ता

फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में उस समय एक अनोखा माहौल बन गया जब एक पर्यावरण कार्यकर्ता मैच के दौरान कोर्ट में घुस गयी। हुआ यूँ कि कैस्पर रूड और मारिन सिलिच के बीच फ्रेंच ओपन सेमीफाइनल के दौरान एक पर्यावरण कार्यकर्ता कोर्ट पर घुस गई और धातु की वायर से खुद को नेट से बांधकर घुटने के बल बैठ गई। उसकी टीशर्ट पर लिखा था, ‘‘वी हैव 1028 डेज लेफ्ट अर्थात हमारे पास 1028 दिन बचे हैं। ’’

जानकारी अनुसार यह महिला जलवायु परिवर्तन को लेकर प्रदर्शन कर रही थी और मैच के बीच पहुंचकर सभी को यह चेतावनी देना चाह रही थी कि हमारे पास सिर्फ 1028 दिन बचे हैं, जिनमें हम अपनी धरती को बचा सकते हैं। इस घटना के कारण खेल लगभग 13 मिनट तक बाधित रहा।

फ्रेंच टेनिस महासंघ ने रूड की जीत के बाद जारी एक बयान में कहा की फ्रांस की एक युवती कोर्ट में घुस गई थी जिसके पास वैध टिकट था। वह कई मिनट तक कोर्ट पर ही बैठी रही। जिसके बाद चार सुरक्षाकर्मी उसे बाहर निकालकर ले गए।

महासंघ ने कहा, सुरक्षाकर्मियों ने पहले यह पड़ताल की कि वह कोर्ट पर कैसे घुसी। उसे बाहर निकालकर पुलिस को सौंप दिया गया। टूर्नामेंट निदेशक एमेली मोरेस्मो कोर्ट के प्रवेश के पास खड़ी होकर देख रही थी। दोनों खिलाड़ियों को इस दौरान सुरक्षित लॉकर रूम में ले जाया गया।

घटना के बाद रूड ने कहा, “मैं वास्तव में नहीं जानता कि इस पर कैसे प्रतिक्रिया दूं, और … मुझे नहीं पता था कि उसने कुछ पकड़ रखा था। मैं ज्यादा नहीं देख पाया। यह एक मुश्किल स्थिति थी। मेरे साथ पहले कभी ऐसा नहीं हुआ।”

वास्तव में यह कोई पहली घटना नहीं हुई है। पिछले कुछ वर्षों में कोर्ट फिलिप चैटरियर में मैच बाधित करने वाले लोगों से जुड़े अन्य एपिसोड भी हुए हैं।