मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गाँधी को भेजा नोटिस, होगी पूछताछ

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड अखबार के संचालन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में नोटिस भेजा है। नेशनल हेराल्ड अखबार कांग्रेस पार्टी द्वारा संचालित और स्वामित्व में है।

कांग्रेस नेताओं के खिलाफ इनकम टैक्स जांच 2013 में दिल्ली में एक निचली अदालत के समक्ष भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा दायर एक व्यक्तिगत आपराधिक शिकायत की जांच से उपजी है। शिकायत में गांधी परिवार की ओर से धोखाधड़ी और धन की हेराफेरी का आरोप लगाया गया था जब यह खरीद की बात सामने आई थी। स्वामी ने दावा किया था कि गांधी परिवार ने यंग इंडियन के माध्यम से अखबार के पूर्व प्रकाशक को खरीदकर नेशनल हेराल्ड के स्वामित्व वाली संपत्तियां खरीदीं, जिसमें उनकी 86 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

स्वामी द्वारा कर चोरी को रोकने के लिए एक कर याचिका वित्त मंत्री को भी भेजी गयी थी।

निचली अदालत के समक्ष दायर शिकायत में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य पर महज 50 लाख रुपये का भुगतान करके धन की चोरी करने का आरोप लगाया गया है, जिसके साथ यंग इंडियन को 90.25 करोड़ रुपये की राशि जमा करने का अधिकार दिया गया था। एजेएल पर कांग्रेस का कर्ज था।

यह बताया गया कि यंग इंडियन का गठन नवंबर 2010 में 50 लाख के निवेश के साथ किया गया था, जिसमें द नेशनल हेराल्ड के स्वामित्व वाली एजेएल के लगभग सभी शेयर थे।

यह बताया गया है कि I-T विभाग ने कहा था कि उनका मानना ​​है कि यंग इंडियन में राहुल गांधी की हिस्सेदारी का मतलब यह हो सकता है कि वह 154 करोड़ रुपये कमाएंगे, न कि 68 लाख का आंकड़ा जो पहले अनुमानित था। इसने मूल्यांकन वर्ष 2011-12 में यंग इंडियन को 249.15 अरब रुपये की राशि का डिमांड नोटिस जारी किया है।