अब पानी बर्बाद करना पड़ सकता है काफी महंगा

दिल्ली जल बोर्ड के वाइस चेयरमैन राघव चड्ढा ने बताया है कि अब पानी की बर्बादी करने वालों के खिलाफ एक्शन लेने पर तेजी से काम होगा। यह कदम पानी की बर्बादी रोकने के लिए उठाया गया है। उन्होंने कहा कि जब तक डीजेबी अधिकारी इसे लेकर सतर्क नहीं होंगे, तब तक उपभोक्ताओं तक यह संदेश पहुँचाना मुश्किल होगा। बता दें की अधिकारियों के साथ गुरुवार को वे मीटिंग कर रहे थे।

Water wastage
Credits Daily Express

राघव चड्ढा ने अधिकारियों को दिए निर्देश!

अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि गलती करने पर जुर्माना लगाने में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। वे कहते हैं कि 24 घंटे पानी होने का यह मतलब नहीं है कि कोई भी व्यक्ति पानी का दुरुपयोग करे। डीजेबी को अब इसके खिलाफ सतर्क होना पड़ेगा तथा इसके लिए जल बोर्ड के प्रवर्तन अधिकारियों को एक्शन भी लेने पड़ेंगे। किसी भी गलती पर तुरंत चालान जारी कर जुर्माना लेना जरूरी है।

water wastage
Credits Change.org

पिछले साल कटा था कम चालान!!

उन्होंने अधिकारियों को फटकार भी लगाई क्यूँकि पिछले साल काफी कम चालान काटे गए थे। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि लोगों में यह संदेश मजबूती के साथ पहुँचाना जरूरी है कि जल बोर्ड अब पानी की बर्बादी या अवैध कनेक्शन बर्दाश्त नहीं करेगा।

Also read: अब अपने नए अवतार में दिखेगी गूगल की मैपिंग सर्विस, यूजर्स को कोरोना से बचाने के लिए गूगल की कोशिश!

जागरूकता फैलाना है उद्देश्य !

वे कहते हैं कि एक दो लोगों की गलती पूरे समाज को झेलनी पड़ती है। लेकिन अब डीजेबी अपने उपभोक्ताओं को ऐसे लोगों की वजह से परेशानी में नहीं पड़ने देगा। इसके साथ उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जल बोर्ड एक महीने का सतर्कता अभियान चलाएगा, जिसकी रूपरेखा तैयार की जाए। इस अभियान में उन सभी इलाकों में टीम भेजी जाएगी जहाँ जल बोर्ड के नियमों का ज्यादा उल्लंघन हो रहा है। बता दें कि इस अभियान का उद्देश्य मात्र चालान काटना नहीं है, बल्कि पानी के सही उपयोग को लेकर जागरूकता फैलाना भी है।

Also read: 5000 साल पुराना है बेशक़ीमती कोहिनूर, जानिए इसके बारे में कुछ रोचक तथ्य…