दुर्घटना में घायल गाय को मध्यप्रदेश के धनपुरी थाना प्रभारी नरबद ध्रुवे ने पहुचाया गौशाला

पुलिस की छवि कड़ाई से कानून पालन कराने की ही नहीं है बल्कि समय समय समय पर पुलिस सेवा में सबसे आगे वाली छवि भी प्रकट होती रहती है। ऐसी की एक घटना 18जुलाई मध्यप्रदेश के धनपुरी में हुई। शाम करीब 9 बजे थाना प्रभारी धनपुरी नरबद सिंह धुर्वे को सूचना मिली कि कस्बा धनपुरी में एक गौमाता दुर्घटना में घायल हुई है।

थाना प्रभारी ने सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए थाना धनपुरी स्टाफ को तत्काल घटनास्थल पर रवाना किया गया। तत्कालीन आवश्यकतानुसार कामधेनु गौशाला को भी सूचना दी गयी।

 

थाना धनपुरी स्टाफ और कामधेनु गौसेवा संस्था के सम्मिलित प्रयास से घायल गौमाता को प्राथमिक उपचार बाद गौशाला में देखरेख हेतु भेजा गया। कामधेनु गौशाला और थाना प्रभारी धनपुरी की सक्रिय एवम महत्वपूर्ण सहभागिता रही।

ज्ञातव्य हो कि थाना प्रभारी धनपुरी नरबद सिंह धुर्व से सम्पर्क करने पर पता चला कि पूर्व पदस्थापना दौरान जिला सिवनी के लखनादौन, छिंदा, केवलारी, पलारी तथा अरी और जबलपुर में भी गौसेवा के लिए अभूतपूर्व कार्य किये हैं। और अब जिला शहडोल में प्राणी सेवा हेतु लगातार कार्यरत हैं।
विदित हो कि कुछ दिन पूर्व सर्पदंश पीड़ित व्यक्ति को भी इन्होंने चुनाव ड्यूटी दौरान समय रहते अस्पताल पहुचाया था जिससे उनकी जान बच सकी थी।

थाना प्रभारी धनपुरी ऐसे शख्शियत हैं जो ऑन ड्यूटी या ऑफ ड्यूटी जीव सेवा के लिए हमेशा उपलब्ध रहते हैं।

थाना प्रभारी के जिला जबलपुर में पदस्थापना दौरान एक घायल कुत्ता 2 दिन से गंदी नाली में मृत्युपरिक्शा में रहकर पीड़ित था। 3 घंटे तक जब वह घायल कुत्ता दर्द से चिल्लता रहा तो इन महानुभाव से रहा नहीं गया और उसके बाद घायल कुत्ते को स्वयं अपने हाथों से नाली से निकालकर बाहर निकाला गया। और वह कुत्ता अगले दिन चैन की नींद सो गया। अर्थात उसकी मृत्यु हो गयी। विदित हो कि ये थाना प्रभारी जीव सेवा के लिए हमेशा तत्पर और उपलब्ध रहते हैं।