तो क्या अन्ना हजारे अब BJP की केजरीवाल विरोधी रैली में नजर आएंगें?

दिल्ली BJP ने अन्ना हजारे को पत्र लिखकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के विरुद्ध एक और आंदोलन चलाने की मांग की है. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता को ठगने के लिए राजनीति का जिस तरीके से सहारा लिया है इसकी कल्पना नही की जा सकती.आदेश गुप्ता ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी साफ-सुथरी राजनीति का दावा कर सत्ता पर काबिज हुई थी लेकिन इस पार्टी ने शुचिता के नाम पर राजनीति की सभी मर्यादाओं को पार कर दिया है.

Photo-hstatic.india.com

अन्ना हजारे को दिल्ली बीजेपी का पत्र

भारतीय जनता पार्टी ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे से दिल्ली आकर अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन चलाने की मांग की है. दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने सोमवार को लिखे गए पत्र में कहा है कि ”साल 2011 में दिल्ली के रामलीला मैदान में जनलोकपाल बिल की मांग करते हुए आपने उस समय की सरकार के खिलाफ आमरण अनशन किया था. आपके नाम पर कुछ लोगों ने साफ-सुथरी राजनीति की वकालत करते हुए आम आदमी नामक नए राजनीतिक दल का गठन किया और अब इसी पार्टी ने सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक भ्रष्टाचार की नई परिभाषा गढ़ दी है.”

Also read- Maharashtra : Building collapsed in Raigad, PM says saddened by the incident

आप पार्टी की अभी तक कोई प्रतिक्रिया नही आई है

उधर आप ने अभी तक इस मुद्दे पर अपनी कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नही की है. बता दें कि आप और बीजेपी दोनों ही पार्टियां एक-दूसरे पर दिल्ली में हुए दंगों को प्रायोजित करने का आरोप लगाया है. इसके अलावा भ्रष्टाचार, वाटरलॉगिग औऱ अन्य सामाजिक समस्याओं को लेकर दोनों ही पार्टियां आमने-सामने हैं. दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली की जनता केजरीवाल सरकार से ठगी हुई महसूस कर रही है ऐसे में इस सरकार से निजात पाने के लिए अन्ना हजारे को आवाज उठाना जरुरी हो गया है.

Also, readList of Companies that grew despite the COVID-19 pandemic

अरविंद केजरीवाल ने जब अन्ना हजारे के साथ भ्रष्टाचार सहित देश के विभिन्न मुद्दों को लेकर दिल्ली की सड़कों पर आंदोलन किया था तब किसी ने सोचा नही था कि केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बन जायेंगे. इस आंदोलन के बाद कई नेता देश के राजनीतिक पटल पर उभर कर सामने आए उनमें से जनरल वीके सिंह औऱ मनीष सिसोदिया जैसे नाम शामिल हैं. हालांकि उसके बाद से अन्ना हजारे हांसिए पर चले गए और उनका नाम अब यदा-कदा ही सुनने में आता है. इस परिप्रेक्ष्य में दिल्ली बीजेपी द्वारा अन्ना हजारे को एक बार फिर से आंदोलन करने के लिए दिल्ली आमंत्रित करना महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है.