कांग्रेस की धमकी आई काम या फिर मंत्री जी को पड़ी डांट, बदले बदले नजर आये शिवराज के मंत्री

कोरोना सक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा कुछ नियम और कानून बनाए गये हैं. इसमें से एक नियम ये भी है कि अगर आप बाहर जाते हैं तो आपके मुंह पर मास्क होना अनिवार्य है, वरना आप पर जुर्माना लग सकता है, प्रधानमंत्री मोदी लगभर हर बार जब देश को संबोधित करते हैं तो मास्क लगाने की अपील करना नही भूलते.. लेकिन शायद मध्य प्रदेश के जेल और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद को इस कानून से खुद को ऊपर समझते थे.

बदले-बदले नजर आये शिवराज सिंह चौहान के मंत्री 

आलम ये था कि एक तरफ जहाँ आम लोगों पर मास्क ना पहनने अपर जुर्माना लगाया जा रहा था वो वहीँ दूसरी तरह मंत्री जी बिना किसी मास्क के मीडिया से बात करते, लोगों से मुलाकात करते और मीटिंग करते. मतलब जेल और गृहमंत्री खुद कानून की धज्जियां उड़ा रहे थे, ऐसे में एक विपक्ष और मीडिया के निशाने पर आ गये थे और सरकार और पार्टी की किरकिरी करवा रहे थे. इसके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि जो कोई भी प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने के लिए मना लेगा, उसको कांग्रेस पार्टी 11 हजार रुपये का नकद इनाम देगी.

आखिर कैसे आ गया ये बदलाव ? 

हालाँकि शुक्रवार को जब मंत्री जी जब मीडिया के सामने आये तो उनके चेहरे पर मास्क लगा हुआ था. अब इसे क्या समझा जाए? एक तरफ मीडिया ने जमकर इस खबर को प्रमुखता से दिखाई दूसरी तरफ विपक्ष ने इसे बड़ा मुद्दा बनाने की कोशिश की. क्या मंत्रीजी  को बड़े नेताओं से आदेश मिला? क्या मंत्री जी पर दबाव बनाया गया? क्या मंत्री जी कांग्रेस के इनाम वाली घोषणा से डर गये या मंत्री जी को गलती का एहसास हो गया?

अब शिवराज सिंह चौहान के मंत्री नरोत्तम मिश्रा का ये बदला रूप कैसे देखने मिला,इसके बारे में कुछ कहा नही जा सकता है.लेकिन ये सोचने वाली बात है कि प्रदेश का जेल और गृहमंत्री खुद नियमों का पालन नही करेगा वो भी तब जब प्रधानमंत्री मोदी खुद इसके लिए अपील कर रहे हैं तो साल तो उठेंगे ही? विपक्ष तो हमला करेगा ही!

खुद नियमों की धज्जियां उड़ाते दिखे गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा 

आपको जानकर हैरानी होगी कि मंत्री जी ऐसे समय में कोरोना कानून की धज्जियां उड़ा रहे थे जब प्रदेश के मुख्यमंत्री खुद कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. साथ ही प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत समेत तीन कैबिनेट मंत्री और कई विधायक कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं. मंत्री द्वारा मास्क ना पहनने की खबर को भी हमने बड़ी प्रमुखता से आपके सामने रखी थी. जिसके बाद शुक्रवार को मंत्री नरोत्तम मिश्रा बदले बदले से नजर आये.

अब चाहे डांट पड़ी हो, या विपक्ष के हमले का डर हो या फिर कोरोना का, कम से कम अब मंत्री जी प्रधानमंत्री के अपील का ध्यान रख रहे हैं और एक संवैधानिक पद पर बैठकर नियमों की धज्जियाँ नही उड़ा रहे हैं.